National News

ये मामला गजब है…नौकरी पाने के लिए मरे हुए व्यक्ति की पत्नी बन गई 21 साल की युवती



लखनऊ: आज के युग में रोजगार पाना जितना जरूरी है, उतना ही बड़ा काम भी है। जहां एक और युवा अपनी मेहनत से नौकरी पा रहे हैं। वहीं कहीं कहीं पर गलत हथकंडे भी अपनाए जा रहे हैं। ऐसा ही एक मामला अब सामने आया है। दरअसल मृतक आश्रित कोटे में नौकरी पाने के लिए एक 21 वर्षीय युवती फर्जी तरीके से मृतक की पत्नी बन गई। पोल खुली तो अब मामले की जांच के लिए कमेटी गठित की गई है।

Ad

बता दें कि साल 1992 में नियुक्ति पाने वाले सफाई कर्मी सुन्दर लाल की वर्ष 2021 में मौत हो गई थी। जिसके बाद एक 21 वर्षीय महिला नेहा जौहरी ने खुद को 57 वर्षीय मृतक सुन्दर लाल की पत्नी बताया था। महिला ने मृतक आश्रित कोटे में नौकरी पाने के लिए शादी का प्रमाण पत्र भी दिया था। जिसे आर्य प्रतिनिध सभा उत्तर प्रदेश ने फर्जी और अमान्य बताया था।

यह भी पढ़ें 👉  बड़ी सफलता...नैनीताल पुलिस ने पकड़ी कॉर्बेट में सप्लाई होने वाली 60 लाख की हेरोइन व स्मैक

अब चूंकि महिला के कागजातों को फर्जी करार दिया गया है। इसलिए लखनऊ अपर नगर आयुक्त ने मामले की जांच के लिए तीन सदस्यीय जांच कमेटी गठित कर दी है। जो कि फर्जीवाड़ा करने वाले के खिलाफ कार्रवाई को आगे बढ़ाने में मदद करेगी। अपर आयुक्त अभय कुमार पाण्डेय ने इस बारे में जानकारी दी।

यह भी पढ़ें 👉  गर्व की बात है, देवभूमि की प्रीति धनाई ने इंजीनियरिंग कॉलेज में टॉप कर जीता गोल्ड मेडल

उन्होंने कहा कि जांच रिपोर्ट में फर्जीवाड़ा मिलने के बाद उक्त महिला पर एफआईआर करायी जाएगी। कमेटी में मुख्य नगर लेखा परीक्षक, नगर स्वास्थ्य अधिकारी, प्रभारी अधिष्ठान को रखा गया है। कमेटी में मुख्य नगर लेखा परीक्षक, नगर स्वास्थ्य अधिकारी, प्रभारी अधिष्ठान को रखा गया है। इस खबर ने वाकई हर किसी को चौंका दिया है।

To Top