Ad
Champawat News

उत्तराखंड: हाईवे बंद होने से एंबुलेंस को नहीं मिला रास्ता, 10 वर्षीय घायल बच्चे की हुई मौत

Ad
Ad
Ad
Ad
Ad

हल्द्वानी: बारिश के चलते टनकपुर-चम्पावत हाईवे बंद हो गया। इस वजह से एक 10 वर्षीय बच्चा वक्त रहते हॉस्पिटल नहीं पहुंच पाया और उसकी मौत हो गई। बारिश की वजह से स्वाला के पास सड़क बंद हो गया और एंबुलेंस को हल्द्वानी पहुंचने के लिए रास्ता नहीं मिला। दरअसल ततैया पीली हड्डी के काटे जाने पर बच्चे को चंपावत जिला अस्पताल से हायर सेंटर रेफर किया गया था। आगे पढ़ें…

एंबुलेंस से परिजन बच्चे को लोहाघाट-देवीधुरा मार्ग से हल्द्वानी लाया जा रहा था लेकिन बच्चे की तबीयत ज्यादा गंभीर होती चली गई और फिर उसे लोहाघाट अस्पताल ले गए तो डाक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। मृतक बच्चे की पहचान सेरान निवासी 10 वर्षीय रितिक थ्वाल पुत्र सुरेश चंद्र थ्वाल के रूप में हुई है। आगे पढ़ें…

यह भी पढ़ें 👉  बिसारी गांव के लापता युवक का शव मिलने से हड़कंप, घर का इकलौता बेटा था मोहित

जानकारी के अनुसार शनिवार की शाम बच्चा अपने खेत में लगे नाशपती तोड़ने गया था। इस दौरान ततैया के झुंड ने उसपर हमला बोल लिया। घायल रितिक को उपचार के लिए जिला हॉस्पिटल ले जाया गया। इलाज के लिए उसे भर्ती कर लिया गया था लेकिन देर रात उसकी तबीयत ज्यादा खराब होने लगी तो बच्चे को हायर सेंटर रेफर कर दिया। आगे पढ़ें…

यह भी पढ़ें 👉  बिसारी गांव के लापता युवक का शव मिलने से हड़कंप, घर का इकलौता बेटा था मोहित

रितिक को हायर सेंटर लाया जा रहा था लेकिन मलबा गिरने से सड़क बंद हो गई और स्वाला में एंबुलेंस फंस गई। बच्चे की मौत ने कई सवाल खड़े गए कर दिया। क्या आपदा प्रबंधन विभाग द्वारा सड़क बंद होने की सूचना अस्पताल प्रशासन को नहीं दी जा सकती थी। लोगों का कहना है कि अगर हॉस्पिटल को सड़क बंद होने की सूचना दी गई होती तो परिवार का वक्त बर्बाद नहीं होता। सड़क बंद होने की सूचना होती तो बच्चे को पहले ही लोहाघाट देवीधुरा मार्ग से हल्द्वानी ले जाया जा सकता था।

यह भी पढ़ें 👉  हाईवे पर कार पलटने से बड़ा हादसा, दो युवकों की हालत नाज़ुक, हल्द्वानी रेफर

Join-WhatsApp-Group
To Top