Haridwar News

हे वीर आपको नमन, हरिद्वार गंगा नदी में विसर्जित होंगी CDS बिपिन रावत और उनकी पत्नी की अस्थियां


Ad
Ad
Ad
Ad

हरिद्वार: देवभूमि के लाल और देश के प्रथम सीडीएस जनरल बिपिन रावत और उनकी पत्नी मधुलिका रावत बीते दिन पंचतत्व में विलीन हो गए। अब दोनों की अस्थियों को हरिद्वार (Haridwar) लाया जाना तय हुआ है। यहां पावन गंगा नदी के घाट पर अस्थियों का विसर्जन किया जाएगा। शनिवार को ही विसर्जन किया जाना है। गौरतलब है कि उत्तराखंड से जनरल रावत का खास रिश्ता था।

चूंकि उत्तराखंड सीडीएस बिपिन रावत (CDS General Bipin Rawat) की जन्मभूमि थे, वे समय समय पर यहां आते रहते थे। इसलिए ना सिर्फ उनके मन में उत्तराखंड के लिए प्यार था बल्कि हर उत्तराखंडवासी के दिल में भी जनरल रावत के लिए खास जगह है। बता दें कि बुधवार दोपहर को तमिलनाडु के कुन्नूर में हुए सेना हेलीकॉप्टर क्रैश में जनरल बिपिन रावत, उनकी पत्नी मधुलिका रावत (Madhulika Rawat) समेत 13 लोगों की मौत हो गई थी।

गुरुवार को सभी शवों को दिल्ली लाए जाने के बाद शुक्रवार को सभी 13 जनों का अंतिम संस्कार उचित सम्मान के साथ किया गया। बता दें कि सीडीएस बिपिन रावत और उनकी पत्नी मधुलिका रावत की अस्थियां (ashes) शनिवार को हरिद्वार के वीआइपी घाट (Haridwar Ganga river VIP ghat) पर गंगा में विसर्जित की जाएंगी। जानकारी के अनुसार दिल्ली से सुबह छह बजे सेना का विशेष विमान उड़ चुका है।

जो सीडीएस बिपिन रावत की अस्थियां लेकर जौलीग्रांट (Jauligrant) के लिए रवाना हो गया। बताया जा रहा है कि जौलीग्रांट हवाई अड्डे से सड़क मार्ग से पूरे सम्मान के साथ अस्थियों को हरिद्वार लाया जाएगा। करीब 11 बजे के आसपास वीआइपी घाट पर वैदिक मंत्रोच्चार के साथ अस्थियों को गंगा में विसर्जित किया जाएगा। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक डा. योगेंद्र सिंह रावत ने जानकारी दी और बताया कि सभी आवश्यक तैयारियां पूरी कर ली गई हैं।

Join-WhatsApp-Group
To Top