National News

अब रजिस्ट्रेशन के बिना भी वैक्सीन लगवा सकेंगे 18 से ऊपर उम्र के लोग,केंद्र ने जारी किए नए निर्देश


अब रजिस्ट्रेशन के बिना भी वैक्सीन लगवा सकेंगे 18 से ऊपर उम्र के लोग,केंद्र सरकार के नए निर्देशों पर डालें नज़र

नई दिल्ली: टीकाकरण अभियान पूरे देश में जोरो शोरो से चल रहा है। गांव गांव तक टीका पहुंचाने के लिए तमाम प्रयास किए जा रहे हैं। अब टीकाकरण को लेकर बड़ा अपडेट आया है। दरअसल वैक्सीन की बर्बादी ना हो, इस कारण केंद्र सरकार ने टीका लेने के लिए कोविन पोर्टल पर पहले से रजिस्ट्रेशन की अनिवार्यता को समाप्त कर दिया है। ये केवल 18 से 44 वर्ष के लोगों के टीकाकरण हेतु किया गया है।

Ad

सरकार द्वारा जारी निर्देशों के अनुसार उक्त आयुवर्ग के लोग टीकाकरण केंद्र पर जाकर भी रजिस्ट्रेशन करा सकते हैं और टीका लगवा सकते हैं। लेकिन यहां गौर करने वाली बात यह है कि वेबसाइट पर रजिस्ट्रेशन होना बंद नहीं होगा क्योंकि उक्त निर्देश केवल सरकारी केंद्रों के लिए मान्य होंगे। निजी केंद्रों पर वेबसाइट का रजिस्ट्रेशन ही माना जाएगा।

यह भी पढ़ें: उत्तराखंड बोर्ड परीक्षाओं को लेकर आया अपडेट,कुछ इस तरह का है सरकार का प्लान

यह भी पढ़ें: जरूरतमंदो के साथ खड़ा है प्रेमनगर आश्रम,400 भोजन किटों को रवाना किया गया

स्वास्थ्य मंत्रालय के वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि क्योंकि सिर्फ जिनका रजिस्ट्रेशन हो चुका है, उन्हें ही टीका लगाया जा रहा था। इसलिए टीकों की बरबादी हो रही थी। दरअसल कई बार पंजीकरण के बाद भी लोग केंद्र पर नहीं पहुंच रह थे। इसलिए यह फैसला लिया गया है कि पहले से रजिस्ट्रेशन वालों को टीका लगाने के साथ ही बचे हुए टीकों को वहां पर आए ऐसे लोगों को दिया जाएगा जिनका रजिस्ट्रेशन नहीं हो रखा है।

मतलब साफ है कि अब सरकारी टीकाकरण केंद्रों पर सीधा जाकर रजिस्ट्रेशन करा कर टीका लगवाया जा सकता है। इसके लिए बकायदा कोविन पोर्टल पर जरूरी बदलाव किए गए हैं। गौरतलब है कि इसी महीने से सरकार द्वारा 18 से 44 वर्ष के लोगों के टीकाकरण हेतु अभियान शुरू किया गया था। जिसके तहत पूरे देशभर में यह अभियान संचालित हो रहा हैं। लिहाजा इस नए फैसले से टीके की बरबादी जरूर रुक सकेगी।

यह भी पढ़ें: उत्तराखंड:पीढ़ियों को सीख देगी निकिता ढौंढियाल की कहानी, सेना की वर्दी पहनेंगी शहीद मेजर विभूति की पत्नी

यह भी पढ़ें: कोरोना काल में फरिश्ते से कम नहीं अभिनेता राघव जुयाल का संघर्ष,अब अल्मोड़ा पहुंचकर की लोगों की मदद

To Top