Champawat News

चंपावत एसडीएम चन्याल रहस्यमयी तरीके से लापता, ऑफिस में मिली एक पर्ची…

Ad
Ad
Ad
Ad

चंपावत: जनपद में इस समय हड़कंप की स्थिति बनी हुई है। ऐसा इसलिए क्योंकि सदर एसडीएम अनिल चन्याल रहस्यमयी तरीके से गायब हो गए हैं। वह ना तो घर पर हैं और कार्यालय में भी ताला लटका है। किसी को उनके बारे में कोई जानकारी नहीं है। कोतवाली में गुमशुदगी दर्ज करा दी गई है। खोजबीन भी शुरू कर दी गई है। बताया जा रहा है कि उनके निवेदन पर उन्हें 15 दिनों की छुट्टी नहीं दी गई थी।

हल्द्वानी के वर्तमान निवासी तथा पिथौरागढ़ जिले के गणाई गंगोली के भिगड़ी गांव के मूल निवासी अनिल चन्याल चंपावत में सितंबर 2021 से तैनात हैं। पांच साल पहले भी वह टनकपुर और पाटी में इसी पद पर रह चुके हैं। सोमवार सुबह से उनके दफ्तर में ताला लटका है। घर पर भी कोई नहीं है। निजी और सरकारी कार अपनी जगह खड़ी हैं। केवल उनके दफ्तर में एक पर्ची मिली है जिस पर लिखा हुआ है, ‘मेरा सरकारी फोन जमा कर दें’

डीएम नरेंद्र सिंह भंडारी ने एक रिपोर्ट के संबंध में उनसे जानकारी लेनी चाही तो घटना सामने आई। मामला गंभीर इसलिए भी है क्योंकि एसडीएम के फोन भी बंद हैं। डीएम के निर्देश पर एसडीएम कार्यालय में तैनात पीआरडी जवान रमेश कुमार ने कोतवाली में रिपोर्ट लिखवाई है। बता दें कि वह दस सितंबर को पंत जयंती पर आयोजित कार्यक्रम में उपस्थित थे। मगर इसके बाद से लापता हैं।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड कैबिनेट बैठक खत्म, अनुपूरक बजट और उम्र कैद को लेकर बड़ा फैसला

एसडीएम की फेसबुक पोस्ट से उनकी मानसिक शांति का जिक्र सामने आ रहा है। माना जा रहा है कि तत्काल छुट्टी ना मिलने से एसडीएम नाराज हो सकते हैं। डीएम नरेंद्र सिंह भंडारी की मानें तो एसडीएम अनिल चन्याल को मॉनसून के कारण छुट्टी नहीं दी गई। उन्हें 15 सितंबर बाद से छुट्टी पर जाने की अनुमति दी गई थी लेकिन वे तत्काल छुट्टी चाहते थे।

यह भी पढ़ें 👉  भारतीय क्रिकेट छोड़ने के बाद अब बांग्लादेश में खेलेंगे उत्तराखंड के उनमुक्त चंद

डीएम ने बताया कि प्रशासन और पुलिस की टीमें खोजबीन कर रही हैं। सीसीटीवी, कॉल डिटेल खंगालने के अलावा तीन टीमें लगाई गई हैं। एसपी देवेंद्र पींचा ने कहा कि एसडीएम अनिल चन्याल की गुमशुदगी दर्ज होने के बाद पुलिस द्वारा सघन तलाशी अभियान चलाया जा रहा है।

Join-WhatsApp-Group
Ad
To Top