Champawat News

चंपावत की मनीषा अधिकारी वायुसेना के लड़ाकू विमान उड़ाएंगी,पापा की वर्दी ने पूरा किया सपना


Ad
Ad

चंपावत: पहाड़ की बेटियां किसी से कम नहीं हैं। वह हर क्षेत्र में कामयाबी हासिल कर रही है। इसके अलावा वह कई बड़े पदों पर भी अपनी सेवाएं दे रही हैं। इसी के वजह से तो उत्तराखंड का युवा उन्नति की ओर बढ़ रहा है और अपने साथ हजारों युवाओं को प्रेरित कर रहा है। उत्तराखंड की बेटी मनीषा अधिकारी भारतीय वायुसेना में अब लड़ाकू विमान उडाएंगी। मनीषा के अफसर बनने के बाद पूरा उत्तराखंड उन पर गर्व कर रहा है।

Ad
Ad

मनीषा अधिकारी नेपाल सीमा से लगे मडलक क्षेत्र के चामा गुरेली ग्राम पंचायत की रहने वाली हैं। वह मनीषा सेना में कमीशन प्राप्त कर एयर फोर्स में फ्लाइंग आफिसर बन गई है। मनीषा ट्रेनिंग के बाद भारतीय सेना के लड़ाकू विमान भी उड़ा सकेंगी। मनीषा की कहानी भी पहाड़ में निवास करने वाले बच्चों की तरह ही रही है। पहाड़ों में संसाधन भले ही कम हो लेकिन सपनों को पूरा करने की जिद बच्चों में दिखाई देती रही है।

मनीषा ने स्कूली शिक्षा प्राथमिक शिक्षा सरस्वती शिशु मंदिर लोहाघाट और माध्यमिक शिक्षा विद्या मंदिर लोहाघाट से पूरी की। इसके बाद वह बीटेक करने के लिए देहरादून डीबीआइटी चलें गई। वह बचपन से ही देश सेवा करना चाहती थी और भारतीय सेना का हिस्सा बनने की जिद उन में थी। इसके लिए वह अपना पापा से प्रेरित होती थी। मनीषा के पिता गोविंद सिंह अधिकारी सेंट्रल रिजर्व पुलिस फोर्स में इंस्पेक्टर पद से सेवानिवृत्त हो चुके हैं और मां बसंती अधिकारी गृहि‍णी हैं।

मनीषा की मानें तो पापा की सीआरपीएफ की वर्दी वाली उन्हें भारतीय सेना का हिस्सा बनने के जूनून को ऊर्जा देती रही और इसी वजह से वह कामयाब हुई हैं। मनीषा का कहना है कि उनकी तरह उत्तराखंड के ग्रामीण क्षेत्रों में रहने वाली बेटियां भी आगे बढ़ सकती हैं। उन्हें आगे बढ़ने के लिए प्रोत्सहित किया जाए तो उनके पास भी आपार अवसर हैं। हल्द्वानी लाइव की ओर से मनीषा अधिकारी को भारतीय सेना में अफसर बनने के लिए हार्दिक बधाई।

Join-WhatsApp-Group
Ad
Ad
Ad
To Top