Rajasthan

राजस्थान कांग्रेस ने कसी कमर, ‘हाथ का निशान मेरा अभिमान’ अभियान को किया शुरू

Ad
Ad
Ad
Ad

जयपुर: राजस्थान विधानसभा उपचुनाव में राजनैतिक दलों में अफरातफरी मची हुई है। सभी पार्टियाें के नेता अपनी नींद उड़ा कर सत्ता को हथियाने के दाव- पेच में कोई कसर नहीं छोड़ रहे । इसी बीच राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष गोंविंद सिंह डोटसरा ने “हाथ का निशान मेरा अभिमान” स्लोगन के साथ एक अभियान शुरू किया है । राजस्थान में अब कांग्रेस 50 लाख की सदस्यता बनाने की तैयारियां कर रही है । आलाकमान के निर्देश के साथ सोमवार से पार्टी का सदस्यता अभीयान शुरू किया गया । डोटसरा बोले कि पहले दिन पांच लाख सदस्यता फार्म दिए गए है और यह अभियान मार्च तक चलेगा । आगे उन्होंने बताया की केंन्द्र सरकार के खिलाफ जनजागरण अभियान भी नवंबर महीने में चलाया जाएगा ।

सदस्यता कार्यक्रम के उपलक्ष्य में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत बोले की आज देश , संविधान और लोकतंत्र खतरे में है इसे बचाने का काम कांग्रेस कार्यकर्ताओं के हाथों में हैं। उन्होंने कहा कि देश में जो ताकतें सत्ता पर काबिज हैं वह सांप्रदायिक हैं। इन लोगों का लोकतंत्र में विश्वास नहीं है यह उसके विपरीत चलते हैं। यह धर्म और जाति के नाम पर सत्ता में आए हैं। आज देश में तनावपूर्ण माहौल बना हुआ है। इस मौके पर मुख्मंत्री ने कांग्रेस सदस्यता का नवीनीकरण कराया । इस समारोह के मौके पर प्रदेश प्रभारी अजय माकन का भी आगमन होना था। मगर विमान की तकनीकी कारणों से विमान जयपुर हवाई अड्डे पर नहीं उतर पाया । बताया जा रहा है कि वह इंडिगो फ्लाइट से दिल्ली होते हुए जयपुर आ रहे हैं । जैसे ही सदस्यता का काम खत्म होगा उसके बाद 16 अप्रैल से 31 मई 2022 तक ब्लाक कांग्रेस कमेटियों और प्रदेश कांग्रेस कमेटी के सदस्यों के चुनाव होंगे। फिर एक जून से 20 जुलाई तक जिला अध्यक्ष बनाए जाएंगे । आखिर में 21 जुलाई से 20 अगस्त 2022 तक प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष ,पदाधिकारियों व अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के सदस्यों का चुनाव होगा।

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने केंन्द्र सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा कि दिल्ली के गृह मंत्रालय में राजस्थान की राज्य सरकार को गिराने के षड्यंत्र रचे जाते हैं । पूर्व मुख्यमंत्री सचिन पायलट खेमे की बगावत के समय की चर्चा करते हुए गहलोत बोले कि केंन्द्र के मंत्री उनकी सरकार गिराने के लिए तरह -तरह की योजनाएं बनाते रहते हैं । जैसे उन्होंने गुरुग्राम में विधायकों का कैंप कराया था लेकिन राज्य की जनता और विधायकों ने करारा जवाब दिया और वह असफल रहे । बीकानेर के डूंगरगढ़ में मीडिया से बात करते हुए गहलोत बोले कि इनसे पूछो राजस्थान के पीछे क्यों पड़े हो। राजस्थान गवर्नेंस के मामले में देश के अंदर मॉडल बन गया है । प्रधानमंत्री और गृहमंत्री को इस कार्य की तारीफ करनी चाहिए।

Join-WhatsApp-Group
Ad
To Top