Dehradun News

उत्तराखंड: मास्क के साथ भी इस्तेमाल कर सकेंगे ऑक्सीजन पंप,10वीं के आदेश डबराल ने किया आविष्कार


देहरादून: क्षेत्र के एक स्कूल में पढ़ने वाले दसवीं के छात्र ने गजब कर दिया है। उसने महामारी के इस दौर में अपनी नई सोच के माध्यम से पोर्टेबल ऑक्सीजन पंप तैयार किया है। जिससे मरीजों को अचानक से होने वाली सांस की दिक्कतों को दूर किया जा सकेगा। और तो और इस पंप को अपने साथ एक जगह से दूसरी जगह भी ले जाया जा सकता है।

बच्चे इस आधुनिक दौर में बहुत ही तेज माने जाते हैं, यो तो सब मानते हैं। लेकिन कोरोना के इस संवेदनशील दौर में एक दसवीं का छात्र लोगों की जिंदगी बनाने हेतु अभिनव प्रयास करेगा, ये किसी ने नहीं सोचा होगा। टिहरी जिले के चंबा निवासी आदेश डबराल ने दसवीं कछा का छात्र होते हुए वो कर दिखाया जो बड़े बड़े नहीं कर पाते हैं।

आदेश डबराल ने एक ऑक्सीजन पंप तैयार किया है जो कि पोर्टेबल है। आदेश ने दावा किया है कि अचानक से सांस में परेशानी होने पर, अस्पताल तर पहुंचने के लिए ऑक्सीजन की किल्लत होने पर, आपात स्थितियों में शरीर को ऑक्सीजन देने में, यह पंप संजीवनी की तरह काम करता है। मास्क लगाने पर ऑक्सीजन की कमी होने को भी यह पंप दूर करेगा। बस इस पंप को मास्क के नीचे लगाना होगा।

बता दें कि आदेश चंबा के ही कारमन स्कूल में पढ़ रहे आदेश इंजीनियरिंग में खासा रुचि रखते हैं। आदेश ने बताया कि आस पास में ऑक्सीजन सिलेंडरों की किल्लत ही वह वजह बनी जिसे देखकर उसने पोर्टेबल ऑक्सीजन पंप तैयार करने के ख्याल पर काम करना शुरू किया। हालांकि इसके लिए कई किताबें, पढ़ाई व वस्तुओं का इस्तेमाल किया गया लेकिन अंत में उपकरण तैयार हो ही गया।

यह भी पढ़ें 👉  फिल्म शूटिंग का गढ़ बना उत्तराखंड, अगली फिल्म के लिए पहाड़ आएंगी श्रीदेवी की बेटी जाह्नवी कपूर

फिलहाल आदेश ने इस पंप को टेस्टिंग के लिए अपने ही परिवार के सदस्यों को दिया है। जानकारी के अनुसार वे इसके बाद ब्लूटूथ वैक्यूम क्लीनर भी बना रहे हैं। आदेश से पता चला कि इस पंप में एक ऑक्सीजन सिलेंडर के साथ बैटरी पंप, प्यूरीफायर और एक पाइप मौजूद है। सिलेंडर रिफिल हो सकता है। पंप को खोलने के लिए ऑन/ऑफ स्विच भी लगा है।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड में 10वीं पास युवाओं की भी लगेगी पोस्ट ऑफिस में नौकरी, तुरंत करें आवेदन

इस पंप में ऑक्सीजन की मात्रा भी नियंत्रित की जा सकती है। यह पंप हवा को शुद्ध भी करता है। सामान्य स्थिति में पंप से सिलिंडर को हटाकर शुद्ध हवा के लिए इसका इस्तेमाल किया जा सकता है। आदेश का कहना है कि नॉर्मल स्थिति में हवा के साथ इस पंप का इस्तेमाल करने पर इसमें लगा ऑक्सीजन का सिलिंडर पूरा दिन चल सकता है, जबकि सिर्फ ऑक्सीजन का इस्तेमाल करने पर चार घंटे तक चलेगा।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड में कोरोना Curfew 14 दिन बढ़ाया गया, बाजार रात 9 बजे बंद होगा

यह भी पढ़ें: उत्तराखंड:कोरोना के रिकॉर्ड मामले सामने आए लेकिन ठीक होने वाले बढ़ा रहे हैं हौसला

यह भी पढ़ें: हल्द्वानी: जिले में Curfew 10 मई तक जारी रहेगा, डीएम ने इन सेवाओं में दी है छूट

यह भी पढ़ें: उत्तराखंड: तारीफ के काबिल हैं डॉक्टर जोशी, बेहोशी से होश में आए तो फिर शुरू की मरीजों की सेवा

यह भी पढ़ें: खबरदार, अब नैनीताल पुलिस का ऑपरेशन वज्रपात करेगा जिले से नशे का खात्मा

यह भी पढ़ें: उत्तराखंड: भालू ने बेटे पर किया हमला तो पिता ने जान पर खेलकर बचाया, दोनों हुए घायल

यह भी पढ़ें: सुशीला तिवारी हॉस्पिटल में तैयार हुआ ऑक्सीजन प्लांट, दूसरे अस्पतालों की भी करेगा मदद

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

हल्द्वानी लाइव डॉट कॉम उत्तराखंड का तेजी से बढ़ता हुआ न्यूज पोर्टल है। पोर्टल पर देवभूमि से जुड़ी तमाम बड़ी गतिविधियां हम आपके साथ साझा करते हैं। हल्द्वानी लाइव की टीम राज्य के युवाओं से काफी प्रोत्साहित रहती है और उनकी कामयाबी लोगों के सामने लाने की कोशिश करती है। अपनी इसी सोच के चलते पोर्टल ने अपनी खास जगह देवभूमि के पाठकों के बीच बनाई है।

© 2021 Haldwani Live Media House

To Top