सुशीला तिवारी हॉस्पिटल में तैयार हुआ ऑक्सीजन प्लांट, दूसरे अस्पतालों की भी करेगा मदद

File Photo

हल्द्वानी: जिले ने पिछले कुछ समय में बहुत कुछ देख लिया। लगातार बढ़ते कोरोना संक्रमण ने नैनीताल जिले पर भी खासा असर डाला है। जिले के अस्पतालों में ऑक्सीजन को लेकर भी संकट गहराया मगर लगातार होती सप्लाई से कोई दिक्कत नहीं हुई। हालांकि सप्लाई होने में थोड़े देर हो जाती थी तो मरीज परेशान हो जाते थे। अब यह समस्या भी दूर हो जाएगी।

डॉ. सुशीला तिवारी अस्पताल में ऑक्सीजन जेनरेशन प्लांट तैयार हो गया है। 1200 मीट्रिक टन क्षमता का यह प्लांट 1400 ऑक्सीजन सिलेंडर बनाएगा। आज से ही इसे संचालित करने की जानकारी मिली है। बता दें कि अब एसटीएच के 425 बेडों के साथ ही अन्य प्राइवेट कोविड अस्पतालों को भी ऑक्सीजन संबंधित समस्या से निजात मिलेगी।

जानकारी के अनुसार सुशीला तिवारी अस्पताल के इस प्लांट में लिक्विफाइड ऑक्सीजन का उपयोग किया जाएगा। इसके लिए रुद्रपुर से लिक्विफाइड टैंक खरीदा जा चुका है। अबतक सुशीला तिवारी अस्पताल को मिलाकर यहां के सभी कोविड अस्पताल बाहर से हो रही ऑक्सीजन सप्लाई पर ही निर्भर थे। अब यह निर्भरता भी खत्म हो जाएगी।

बता दें कि करीब तीन ऑक्सीजन सप्लायर जिले के 14 कोविड अस्पतालों को ऑक्सीजन पहुंचा रहे हैं। जिसमें से 1400 सिलेंडर तो अकेले एसटीएच को ही मिल रहे हैं। यही कारण रहा कि बाकी 13 कोविड अस्पतालों की ऑक्सीजन की आपूर्ति में कटौती हो गई थी। अब चूंकि ऑक्सजीन प्लांट ही अपना है तो आपूर्ति की दिक्कत ना ही सुशीला तिवारी अस्पताल में होगी और ना ही अन्य निजी अस्पतालों में।

चिकित्सा अधीक्षक एसटीएच डा. अरुण जोशी ने बताया कि ऑक्सीजन जेनरेशन प्लांट तैयार हो चुका है। बुधवार से ही ऑक्सीजन सप्लाई शुरू हो जाएगी। मरीजों का दबाव बढ़ने से ऑक्सीजन की पर्याप्त आपूर्ति नहीं हो पा रही थी जिससे परेशानी पैदा हो रही थी। अब अस्पताल के सभी 425 बेडों में इसके माध्यम से ऑक्सीजन सप्लाई की जाएगी।

यह भी पढ़ें: उत्तराखंड: शादी के बाद ससुराल पहुंची नई नवेली दुल्हन की मौत

यह भी पढ़ें: हल्द्वानी: मुश्किल वक्त में भी कालाबाजारी, 900 का फ्लोमीटर 9 हजार में बेचने वाले दो गिरफ्तार

यह भी पढ़ें: उत्तराखंड: निरीक्षण के लिए सरकारी अस्पताल पहुंचे DM तो मिली कमियां, लिया एक्शन

यह भी पढ़ें: उत्तराखंड में सब ठीक हो जाएगा, हर जिले में बनेंगे प्लाज्मा बैंक, Whatsapp के जरिए होगी मदद

यह भी पढ़ें: राज्यसभा सांसद अनिल बलूनी फिर बने देवभूमि का सहारा, कोरोना से लड़ाई के लिए दिए पचास लाख रुपए

यह भी पढ़ें: उत्तराखंड पहुंची वैक्सीन की नई खेप, दो लाख डोज आने के बाद भी खत्म नहीं हुआ इंतज़ार

यह भी पढ़ें: उत्तराखंड का सतुईया गांव,एक ऐसा गांव जहां अबतक नहीं पहुंच सका कोरोना,गांववालों ने बताए कारण

यह भी पढ़ें: आरासल्पड़:किशोरी की पहचान उजागर करने वालों के खिलाफ केस दर्ज,वीडियो देखें

यह भी पढ़ें: हल्द्वानी: कोरोना Curfew पर नया अपडेट, 6 मई तक रहेगा लागू

यह भी पढ़ें: उत्तराखंड मेडिकल बुलेटिन: दो दिन में 6279 लोगों ने कोरोना वायरस को हराया

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *