Nainital-Haldwani News

वरिष्ठ पत्रकार दिनेश मानसेरा ने मीडिया सलाहकार पद को अस्वीकार किया


देहरादून: इस वक्त की बड़ी खबर सामने आ रही है राजधानी से। दो दिन पूर्व मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत के मीडिया सलाहकार बनाए गए वरिष्ठ पत्रकार दिनेश मानसेरा ने पद को अस्वीकार किया है। उन्होंने इस संबंध में एक पोस्ट के माध्यम से बताया। उन्होंने साफ किया कि वह किसी पद पर केवल खानापूर्ति नहीं कर सकते हैं। उनकी नियुक्ति से किसी अन्य की छवि खराब ना हो इसलिए पद को अस्वीकार कर दिया है। इस संबंध में आदेश में भी जारी कर दिया है। शासन में अपर सचिव राधा रतूड़ी के हस्ताक्षरों से युक्त आदेश में नियुक्ति के आदेश संख्या का हवाला देते हुए सिर्फ इतना ही लिखा गया ​है कि उक्त आदेश को निरस्त किया जाता है।

क्यों बनाया गया था दिनेश मानसेरा को मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत का मीडिया सलाहकार

उत्तराखंड के मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत के मीडिया सलाहकार के रूप में पिछले 25 सालों से पत्रकारिता क्षेत्र में अलग-अलग अखबारों व टीवी मीडिया में काम कर चुके वरिष्ठ पत्रकार दिनेश मानसेरा को अब चुना गया। उनकी नियुक्ति के बाद जिले के पत्रकार ने खुशी जाहिर की और कहा कि वह पत्रकारों के हित के बारे में अच्छे तरीके से जानते हैं। उन्होंने यह सभी महसूस किया है और उसे उठा सकते हैं। बता दें कि दिनेश मानसेरा तीरथ सिंह रावत के मुख्यमंत्री बनने के बाद ही टीम तीरथ का हिस्सा बन चुके थे। दिनेश मानसेरा को मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने करीब डेढ़ महीने पहले ही अपनी टीम का हिस्सा बना लिया था। पूर्व मुख्यमंत्री की टीम का नाम कई विवादों में जुड़ा था और यह टीम उससे पार पाना चाहती थी।

सूचना विभाग की कार्यशैली में बदलाव किया गया। मेहरबान सिंह की जगह रणवीर सिंह चौहान को सूचना महानिदेशक बनाया गया। उसके बाद मुख्यमंत्री और पत्रकारों के बीच तालमेल को वरीयता, कोविड वैक्सीन का पत्रकारों को भी लगाना जैसे विषय तय करने में साथ ही कोविड प्रभावित पत्रकारों से सूचना महानिदेशक की दूरभाष पर बातचीत के सुझाव को भी मीडिया परिवार ने सराहाउत्तराखंड के मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत के मीडिया सलाहकार के रूप में पिछले 25 सालों से पत्रकारिता क्षेत्र में अलग-अलग अखबारों व टीवी मीडिया में काम कर चुके वरिष्ठ पत्रकार दिनेश मानसेरा को अब चुना गया।

अब सवाल उठता है कि दिनेश मानसेरा की एंट्री तीरथ सिंह रावत की किचन कैबिनेट में एंट्री कैसे हुई।इसके कई पहलू है एक तो ये की तीरथ सिंह रावत, दिनेश मानसेरा को व्यक्तिगत रूप से पिछले 25 सालों से जानते थे। जब वे बीजेपी के कुमाऊं क्षेत्र के मीडिया प्रभारी थे। दूसरा संघ परिवार के दरवाजे से उनकी एंट्री हुई।

यह भी पढ़ें 👉  हल्द्वानी में 17 दिन बाद मिला मंगलसूत्र चोर, केमू बस में बैठी महिला को बनाया था शिकार

खबर ये भी थी कि दिनेश मानसेरा की एंट्री त्रिवेन्द्र सरकार के समय ही होजानी चाहिए थी, परंतु उस दौरान दिल्ली हाई कमान से अचानक रमेश भट्ट की एंट्री हो गयी और दिनेश मानसेरा का नाम एक किनारे रख दिया गया। दिनेश मानसेरा बेशक एनडीटीवी में अपना कैरियर संभाले हुए थे, लेकिन अपनी विचारधारा को अपने प्रोफेशन में कभी हावी नही होने दिया । वे खबर को खबर की तरह देखते रहे और यही वजह थी कि उन्होंने पत्रकारिता में अपना नाम और साख को बनाये रखा। वो स्वतंत्र रूप से राष्ट्रवादी लेखन भी करते रहे। पांचजन्य और अन्य पत्रों में वो बेबाक लिखते रहे, साथ ही सोशल मीडिया में सहीं को सही गलत को गलत कहने में हमेशा आगे रहे ।

हल्द्वानी लाइव डॉट कॉम उत्तराखंड का तेजी से बढ़ता हुआ न्यूज पोर्टल है। पोर्टल पर देवभूमि से जुड़ी तमाम बड़ी गतिविधियां हम आपके साथ साझा करते हैं। हल्द्वानी लाइव की टीम राज्य के युवाओं से काफी प्रोत्साहित रहती है और उनकी कामयाबी लोगों के सामने लाने की कोशिश करती है। अपनी इसी सोच के चलते पोर्टल ने अपनी खास जगह देवभूमि के पाठकों के बीच बनाई है।

© 2021 Haldwani Live Media House

To Top