Election Talks

उत्तराखंड: टिकट नहीं मिलने से नाराज भाजपा के 32 साल पुराने साथी ने दिया इस्तीफा


Ad
Ad
Ad
Ad

देहरादून: टिकट बंटवारे के बाद से भाजपा डैमेज कंट्रोल में जुटी हुई है। टिकट नहीं मिलने से नाराज कार्यकर्ता पार्टी से इस्तीफा दे रहे हैं। कई विधानसभा क्षेत्र से इस तरह की खबरे सामने आ चुकी हैं। वैसे तो हर विधानसभा चुनाव से पहले ये होता है लेकिन जितनी जल्दी डैमेज कंट्रोल होगा उतना कम नुकसान किसी भी दल को चुनावों में होता है।

भाजपा ने गदरपुर विधानसभा सीट से एक बार फिर कैबिनेट मंत्री अरविंद पांडे को टिकट दिया है। इससे नाराज होकर स्थानीय नेता रविंद्र बजाज ने अपने समर्थकों के साथ पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से इस्तीफा दे दिया है। उन्होंने कहा कि वह 32 सालों से भाजपा की सेवा कर रहे थे। हमारा इस्तेमाल किया गया और ये बात दुख देती है।

टिकट बंटवारे के बाद शुक्रवार को भाजपा नेता और काशीपुर विधानसभा क्षेत्र के प्रभारी रहे गदरपुर निवासी रविंद्र बजाज ने इस्तीफा देने के बाद पत्रकारों से वार्ता की। रविंद्र बजाज के साथ भाजपा की प्राथमिक सदस्यता से इस्तीफा देने वालों में भाजपा प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य संतोष गुप्ता, 20 सूत्रीय कार्यक्रम क्रियान्वयन समिति के सदस्य राजीव त्यागी, नगर पालिका गदरपुर के वार्ड नंबर पांच के सभासद परमजीत सिंह पम्मा, भाजपा ओबीसी मोर्चा के मंडल अध्यक्ष अभिषेक वर्मा, गूलरभोज सोसायटी के पूर्व अध्यक्ष अमर सिंह एवं हरि सिंह भी शामिल थे।

इस दौरान उन्होंने भाजपा संगठन और कैबिनेट मंत्री पर कार्यकर्ताओं की अनदेखी और उत्पीड़न के गंभीर आरोप भी लगाए। बजाज ने कहा कि उन्होंने दावेदारी पेश की थी लेकिन संगठन से इसे गंभीरता से नहीं लिया। पार्टी सर्वे में मौजूदा विधायक के प्रति लोगों में रोष देखा गया था लेकिन इसके बाद भी टिकट उन्हें ही मिला है। बजाज ने साल 2007 भाजपा से चुनाव लड़ा था लेकिन वह हार गए थे। उन्होंने कहा कि इसके बाद भी उन्होंने पार्टी को मजबूत और सफलता के लिए कार्य किया है।

Join-WhatsApp-Group
To Top