Uttarakhand News

उत्तराखंड में आमजन की जेब पर फिर चोट पड़ी, तीसरी बार बढ़े बिजली के रेट

Ad
Ad
Ad
Ad
Ad

हल्द्वानी: प्रदेश में एक बार फिर लोगों का महंगाई का करंट लगा है। साल में तीसरी बार बिजली की दरों में बढ़ोतरी हो गई है। विद्युत नियामक आयोग ने 1 अक्टूबर से 31 दिसंबर के लिए नई दरें घोषित की है। जो आमजनों के लिए चिंता का सबब बन गई हैं। हर तीन महीने में फ्यूल चार्ज एडजस्टमेंट के तहत दरें निर्धारित करने का सिलसिला जारी करते हुए घोषणा हुई है।

अब घरेलू उपभोक्ताओं से दस पैसे, कामर्शियल से 15 पैसे, सरकारी संस्थानों से 14 पैसे, , प्राइवेट ट्यूबवेल से पांच पैसे, कृषि गतिविधियों से छह पैसे प्रति यूनिट अतिरिक्त वसूला जाएगा। एलटी उद्योग से 14 पैसे, एचटी उद्योग से 14 पैसे वसूला जाएगा। एक अप्रैल से 2.68 प्रतिशत की वृद्धि के बाद निगम की पुनर्विचार याचिका में आयोग ने दरों में 3.85 प्रतिशत की वृद्धि की थी।

अब विद्युत नियामक आयोग के अनुमोदन के बाद एमडी यूपीसीएल अनिल कुमार ने एफसीए की नई दरों के अनुसार बिल तैयार किए जाने के आदेश जारी किए हैं। बता दें कि न्यूनतम 100 यूनिट तक बिजली खर्च करने वालों पर कुल 26 पैसे प्रति यूनिट का भार पड़ा। जबकि 200 यूनिट वालों को 51 पैसे, 400 यूनिट वालों को 71 पैसे, कामर्शियल को 1.02 रुपये, एलटी उद्योग को 96 पैसे, एचटी उद्योग को 1.11 रुपए प्रति यूनिट का चुकाना पड़ा।

यह भी पढ़ें 👉  मुख्यमंत्री धामी ने फहराया तिरंगा, पीएम मोदी के संकल्प को भी याद किया
To Top