Nainital-Haldwani News

उत्तराखंड में पकड़ा गया फर्जी अग्निवीर अभ्यर्थी, हल्द्वानी से बनाए थे जाली दस्तावेज़

Ad
Ad
Ad
Ad

नैनीताल: अग्निवीरों की भर्ती रैली से एक फर्जी अभ्यर्थी पकड़ा गया है। भारतीय सेना के कुमाऊं रेजिमेंट सेंटर (KRC) मुख्यालय में चल रही अग्निवीर सैनिक भर्ती रैली में एक युवक को फर्जी प्रमाणपत्रों के साथ पकड़ा गया है। उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर के इस युवक ने हल्द्वानी से जाली दस्तावेज बनाए हैं। भर्ती के दौरान दस्तावेजों की जांच में खुलासा हुआ है।

बता दें कि केआरसी मुख्यालय के सोमनाथ मैदान में चल रही अग्निवीर भर्ती रैली के चौथे दिन खुद को हल्द्वानी निवासी बताने वाले ताहिर खान ने प्रीहाइट टेस्ट पास कर 1600 मीटर की दौड़ तय समय में पूरी कर ली। मगर जब दस्तावेजों के सत्यापन की बारी आई तो युवक संदेह के घेरे में आ गया।

जिसके बाद मिलिट्री इंटेलीजेंस व सैन्य पुलिस के साथ ही भर्ती रैली में तैनात सैन्य अधिकारियों ने तबीयत से पूछताछ की तो सच सामने आ गया। उसने बताया कि वह मूल रूप से ग्राम अलीपुरा, थाना ककोड़, तहसील सिकंदराबाद जिला बुलंदशहर (उत्तर प्रदेश) का रहने वाला है।

यह भी पढ़ें 👉  पहाड़ में भयानक हादसा, बोलेरो में सवार दो लोगों ने दम तोड़ा, तीन घायल

बाद में 21 वर्षीय ताहिर खान पुत्र अहसान खान के सभी प्रमाणपत्र फर्जी पाए गए। फौरन सेना पुलिस ने सीओ तिलक वर्मा व कोतवाल नासिर हुसैन के सुपुर्द कर दिया। जिसके बाद आर्मी रिक्रूट अधिकारी अल्मोड़ा की तहरीर के आधार पर कोतवाली में ताहिर के खिलाफ केस दर्ज हुआ और उससे कड़ी पूछताछ शुरू हुई।

यह भी पढ़ें 👉  हल्द्वानी में इंसानियत की कहानी...ऑटो चालक ने लौटाया जेवर-नकदी से भरा बैग

जानकारी के अनुसार उसने हल्द्वानी से फर्जी स्थायी निवास, जाति व हाईस्कूल का प्रमाणपत्र और आधार कार्ड भी बनवाया था। इस प्रकरण के बाद हल्द्वानी प्रशासन पर भी कहीं ना कहीं सवाल खड़े हो रहे हैं। पुलिस हर एंगल से मामले की जांच कर रही है। सीओ अमित वर्मा ने कहा कि मामला पंजीकरण नंबर के क्यूआर कोड को स्कैन करने पर खुला। क्योंकि यह किसी और का निकला।

Join-WhatsApp-Group
Ad
To Top