Almora News

पूरे उत्तराखंड में अल्मोड़ा के पान सिंह की बहादुरी की चर्चा, बेटे को तेंदुए से बचाया

File Photo
Ad
Ad
Ad
Ad

अल्मोड़ा: पहाड़ी क्षेत्रों में वन्यजीवों और मानव के बीच संघर्ष की खबरें पहले के मुकाबले अब काफी बढ़ गई हैं। दूरगामी इलाकों में तेंदुए, गुलदार का आतंक थमने का नाम नहीं ले रहा है। इस बार अल्मोड़ा में घर के आंगन में 14 वर्षीय बच्चे पर तेंदुए ने हमला कर दिया। वो तो गनीमत रही कि पिता ने देख लिया और अपनी जान पर खेलकर बच्चे की जान बचा ली।

जानकारी के अनुसार मंगलवार की शाम करीब चार बजे के आसपास लमगड़ा ब्लॉक के ग्राम राणाऊ के 14 वर्षीय आनंद सिंह बगड़वाल पुत्र पान सिंह बगड़वाल अपने घर के आंगन में बने शौचालय में जा रहा था। इसी बीत नजदीक खेत में बैठे तेंदुए ने मौका देखते ही आनंद पर हमला बोल दिया। हमले में आनंद की पीठ, हाथ पर पंजे मारे मगर इतने में पिता पान सिंह की निगाह बेटे पर पड़ गई।

पिता भी आनन फानन में आनंद को बचाने के लिए दौड़ गए और बिना अपनी जान की परवाह किए किसी तरह बेटे को बचाने में सफल हुए। इस दौरान उन्हें भी काफी चोटे आईं। ग्रामीणों के शोर मचाने पर तेंदुआ भाग गया था। इसके बाद आनंद को सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र लमगड़ा ले जाया गया। जहां उसका उपचार हुआ। वन क्षेत्राधिकारी आनंद बल्लभ पाठक की मानें तो जानकारी ली गई है। फिलहाल बच्चा ठीक है।

Join-WhatsApp-Group
Ad
यह भी पढ़ें 👉  हल्द्वानी के एक घर ने सबको चौंकाया, अब रहस्य जानने आए कुमाऊं आयुक्त दीपक रावत
To Top