Ad
Nainital-Haldwani News

हल्द्वानी: अपने चार पहिया वाहनों में 20 अप्रैल तक लगवा लें GPS, इमरजेंसी में पैनिक बटन से मिलेगी मदद

Ad
Ad
Ad
Ad
Ad

हल्द्वानी: अगर आप भी चौपहिया वाहन चलाते हैं तो ये खबर आपके लिए है। सड़क हादसों से लेकर हर तरह की निगरानी और अलर्ट के लिए आरटीओ विभाग ने गाड़ियों में जीपीएस अनिवार्य करने का फैसला किया है। सरकार के आदेश के अनुसार दोपहिया, ई रिक्शा और तिपहिया वाहनों को छोड़कर सभी वाहनों में 20 अप्रैल तक जीपीएस लगाना होगा।

बता दें कि हल्द्वानी में 38 हजार रजिस्टर्ड वाहन, बिना जीपीएस के चल रहे हैं। ऐसे में अब 20 अप्रैल के बाद गाड़ियों में जीपीएस का होना अनिवार्य होने जा रहा है। ध्यान देने योग्य बात ये भी है कि ये जीपीएस शासन की तरफ से अधिकृत 15 कंपनियां ही लगा सकेंगी। आरटीओ हल्द्वानी संदीप सैनी की मानें तो इस में सात से 10 हजार का खर्चा आएगा।

यह भी पढ़ें 👉  नैनीताल में नहीं चलेगी मनमानी, बिना पंजीकरण के चल रहे 5 रिजॉर्ट हुए सील

उन्होने बताया कि डिवाइस में 14 तरह के अलर्ट होने के अलावा एक पैनिक बटन होगा। जिससे 112 का सर्वर कनेक्ट होगा। ऐसे में इमरजेंसी होते ही इसे दबाने से मदद मिल सकेगी। आदेश के मुताबिक इसके खराब या पुराने होने के स्थिति में जीपीएस अपडेट कराया जा सकेगा। संदीप सैनी ने बताया कि इसके लिया आरटीओ में कंट्रोल रूम बनेंगे। जहां से गाड़ियों की निगरानी होगी।

यह भी पढ़ें 👉  अब फिर बिगड़ेगा मौसम, नैनीताल समेत चार जिलों में भारी बारिश का अलर्ट जारी

यात्री वाहनों में यात्रियों को होगा फायदा

बता दें कि ये जीपीएस टैक्सी, निजी कार, बस, ट्रक, खनन समेत अन्य सवारी व मालवाहक वाहनों में लगेंगे। ऐसे में अगर किसी यात्र को चालक के गाड़ी चलाने के तरीके, आदि किसी भी चीज से परेशानी है तो वह फीडबैक दे सकेंगे। जीपीएस सिस्टम से अलर्ट भी पहुंच जाएगा। ऐसे में जब चालक लाइसेंस को रिन्यूकराने आएंगे तो विभाग को उनके व्यवहार की पूरी जानकारी होगी।

Join-WhatsApp-Group
To Top