Nainital-Haldwani News

जोशीमठ पहुंचकर हल्द्वानी विधायक ने देखी स्थिति, NTPC पर उठाए कई सवाल

Ad
Ad
Ad
Ad
Ad

हल्द्वानी: विधायक सुमित हृदयेश ने जोशीमठ का दौरा किया था। वहाँ पहुँचकर उन्होंने जोशीमठ में हो रहे भू- धंसाव का जायज़ा भी लिया साथ ही साथ भू- धंसाव के प्रभावित हुए स्थानीय लोगो से मुलाक़ात की। स्थानीय विधायक व पूर्व मंत्री राजेन्द्र सिंह भंडारी से पूरे विषय की समृद्ध जानकारी ली। विधायक सुमित हृदयेश ने बताया कि वो ख़ुद नगर पालिका के चेयरमैन शैलेंद्र पवार और विधायक राजेंद्र भंडारी के साथ उन जगह पर गए जहाँ पानी का रिसाव हो रहा था और उसके बाद उन्होंने प्रभावित मकानों, दुकानों और होटलों का भी निरीक्षण किया।

तहसील में जोशीमठ संघर्ष समिति द्वारा किए जा रहे धरने में पहुँचकर विधायक सुमित हृदयेश ने अपना समर्थन दिया और 1 लाख रुपय की आर्थिक मदद की घोषणा की। सुमित हृदयेश ने कहा की राज्य सरकार को बद्रीनाथ की तरह राहत पैकेज देना चाहिए। उन्होंने कहा कि बद्रीनाथ में जब मास्टर प्लैन लागू हुआ था तो 76 लाख रुपय नाली के हिसाब से स्थानीय लोगो नुकसान भरपाई दी गई थी और यही माँग स्थानीय विधायक की भी हैं जिसका सब समर्थन कर रहे हैं।

स्थानीय विधायक राजेंद्र भंडारी और स्थानीय लोगो ने शीर्ष नेतृत्व उत्तराखंड कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष करन महरा, नेता प्रतिपक्ष यशपाल आर्या, पूर्व नेता प्रतिपक्ष एवं विधायक चकराता प्रीतम सिंह, पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत सहित समस्त कांग्रेस के वरिष्ठ नेतागण और विधायकगण का आभार जताया की उनकी इस दुःख की घड़ी में सब उनके साथ हैं।

यह भी पढ़ें 👉  हल्द्वानी गणतंत्र दिवस, भरत योग समिति ने प्रतिभाशाली बच्चों को दिया मंच

हल्द्वानी विधायक सुमित हृदयेश ने कहा कि NTPC द्वारा जो ब्लास्टिंग की गई हैं उससे यहाँ संकट और बढ़ गया हैं। उन्होंने यह भी कहा की वे देश के प्रधानमंत्री से अपील करते हैं की इस आपदा को को राष्ट्रीय आपदा घोषित करे और स्वयं जोशीमठ पहुँचकर स्थलीय निरीक्षण करें।

यह भी पढ़ें 👉  नैनीताल में बारिश और बर्फबारी का अलर्ट, डीएम ने जारी किया हेल्प लाइन नंबर

इस दौरान विधायक सुमित हृदयेश के साथ व्यापार मण्डल प्रदेश अध्यक्ष नवीन वर्मा , हर्षवर्धन पांडेय, चमोली ज़िलाध्यक्ष वीरेंद्र सिंह थोकदार , वर्तमान नगरपालिका चेयरमैन शैलेंद्र पवार, पूर्व चेयरमैन नवनीत सती, जोशीमठ संघर्ष समिति के अध्यक्ष अतुल सती और युवा कांग्रेस के पूर्व प्रदेश उपाध्यक्ष गुरप्रीत सिंह प्रिंस भी मौजूद रहे।

To Top