Nainital-Haldwani News

हल्द्वानी:नोट गिनने के बहाने से युवक ने लगाया पूर्व फौजी को चूना, बैग में रखे थे डेढ़ लाख रुपए


हल्द्वानी: ठगी के मामलों में लगातार इजाफा होना वाकई नैनीताल जिले के लिए चिंताजनक बात है। चाहे ऑनलाइन मोड हो या ऑफलाइन तरीका, ठग कतई भी आम लोगों से ठगी करने से बाज नहीं आ रहे हैं।

हल्द्वानी में पूर्व फौजी का सामना भी एक ठग से हो गया। ठग ने अपनी बातों में फंसाकर उन्हें 14 हजार रुपए की चपत लगा डाली। घर जाकर जब ठगी का एहसास हुआ तो पूर्व फौजी ने कोतवाली पहुंचकर मामले को पुलिस से साझा किया। पुलिस ने कहा है कि जांच की जाएगी।

यह भी पढें: नैनीताल में गुलदार का आतंक,लकड़ी लेने जंगल गई महिला पेड़ से नीचे गिरी

यह भी पढें: उत्तराखंड में अब तीन मंडल होंगे,चमोली,रुद्रप्रयाग,अल्मोड़ा,बागेश्वर से मिलकर बनेगा गैरसैंण

आवास-विकास कॉलोनी हल्द्वानी निवासी देव सिंह डसीला भारतीय सेना से रिटायर्ड हैं। रिटायर्ड फौजी का बैंक खाता एसबीआई मुख्य शाखा में है। बुधवार को हुआ यह कि शाम करीब तीन बजे वह बैंक पहुंचे। जहां पर उन्होंने अपने खाते से डेढ़ लाख रुपए निकाले। 500 की तीन गड्डियों को अपने बैग में रखकर वह पैदल ही मंगलपड़ाव की तरफ निकल पड़े।

जब पूर्व फौजी एसडीएम ऑफिस के पास पहुंचे, तो पीछे से एक युवक आ गया। युवक ने 200 का नोट लहराते हुए दिखाया और कहा कि आपके रुपए बैंक काउंटर पर ही गिर गए हैं। बैंक कैशियर ने आपको सूचित करने के लिए मुझे भेजा है।

यह भी पढें: उत्तराखंड में फिर बढ़ने लगे हैं कोरोना वायरस के मामले, आज नैनीताल में सबसे ज्यादा केस

यह भी पढें: हल्द्वानी में अंडर-16 ट्रायल, 80 खिलाड़ियों को मिला अगले दौर का टिकट

इतने के बाद युवक ने कहा कि पैसे गिन लीजिए। जब पीड़ित ने बैग खोलकर रुपए गिनना शुरू किए तो, युवक ने भी झट से नोट की गड्डी पर हाथ मार लिया। वह पीड़ित के सामने नोट गिनने का बहाना करने लगा। विरोध करते हुए पूर्व फौजी ने अपना बैग वापस मांग लिया और वह आगे बढ़ गए।

जब घर पहुंचकर देखा तो उसमें 14 हजार रुपए कम निकले। जबकि ठग की ओर से दिखाया गया 200 का नोट बैग में राखा मिला। पूर्व फौजी ने कोतवाली पहुंचकर मामले की तहरीर दी है। एसएसआइ कैलाश नेगी मामले की जांच कर रहे हैं।

यह भी पढें: बागेश्वर से हल्द्वानी आ रही केमू बस पलटी,काली मंदिर के पास हुआ चमत्कार,बच गई 16 जिंदगियां

यह भी पढें: पहाड़ी में बात करें उत्तराखंड के युवा डॉक्टर्स,MBBS के छात्रों को सिखाई जाएगी पहाड़ी भाषा

To Top