Nainital-Haldwani News

हल्द्वानी:अब नहीं चलेगी प्राइवेट अस्पतालों की मनमानी,कोरोना के इलाज हेतु Fix हुए रेट,देखें लिस्ट


हल्द्वानी: प्राइवेट अस्पतालों में इलाज की गुणवत्ता से परे यहां की महंगाई गरीब तबके के लोगों को अधिकतर दूर रखती है। लिहाजा कई बार ये देखा गया है कि प्राइवेट अस्पतालों द्वारा इलाज के मनमाने रुपए वसूले गए हैं। ऐसे जो सक्षम ना हों, उनके लिए महंगे अस्पताल में इलाज कराना असंभव है। अब शिकायतों के बाद निजी अस्पतालों में कोविड मरीजों के इलाज की दरें निर्धारित कर दी हैं। इसके बावजूद यदि अस्पताल मनमाना शुल्क वसूलता है तो उसपर महामारी एक्ट के तहत कार्रवाई की जाएगी।

अब यदि आप भी किसी कोरोना संक्रमित का इलाज किसी प्राइवेट कोविड अस्पताल में कराने की सोच रहे हैं तो स्वास्थ्य विभाग द्वारा निर्धारित दरों पर ही इलाज कराएं। स्वास्थ्य विभाग ने आदेश जारी किए हैं जिसके अनुसार हल्द्वानी के निजी अस्पतालों को एनबीएच (अस्पताल और स्वास्थ्य सेवा प्रदाताओं के लिए राष्ट्रीय प्रत्यायन बोर्ड) से मान्यता प्राप्त व गैर एनएबीएच मान्यता प्राप्त श्रेणियों में बांटा गया है।

यह भी पढ़ें: कैबिनेट मंत्री सतपाल महाराज का बड़ा बयान,कुमाऊं में शुरू होंगे तीन ऑक्सीजन प्लांट

यह भी पढ़ें: फिर खस्ता हुई परिवहन निगम की हालत, डिपो के पास नहीं डीजल तक के रुपए

बता दें कि नैनीताल जिले में एनएबीएच से मान्यता प्राप्त श्रेणी में ब्रजलाल और सेंट्रल अस्पताल हैं। जबकि गैर मान्यता प्राप्त में कृष्णा अस्पताल, नीलकंठ अस्पताल, सांई अस्पताल, विवेकानंद अस्पताल, बांबे अस्पताल, सिद्धिविनायक अस्पताल, सुबह अस्पताल, एसके नर्सिंग होम, मां जगदंबा सुपर स्पेशिएलिटी अस्पताल और कल्याण अस्पताल शामिल हैं। हलाांकि दरें तो पहले ही जारी हो गई थी मगर सार्वजनिक ना हो पाने के कारण लोगों को जानकारी नहीं थी।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड क्रिकेट टीम के दो गेंदबाजों का भारतीय चैलेंजर ट्रॉफी में चयन

निर्धारित दरें (भर्ती होने से प्रतिदिन)

श्रेणी                          हल्की बीमारी – आइसोलेशन बेड (ऑक्सीजन, सपोर्टिव केयर सहित)

एनएबीएच मान्यता प्राप्त                8000 रुपये (पीपीई किट के 1200 रुपये सहित)

गैर मान्यता प्राप्त                          6400 रुपये (पीपीई किट के 1200 रुपये सहित)

यह भी पढ़ें: पूर्व सीएम त्रिवेंद्र बोले कोरोना को भी जीने का अधिकार,सोशल मीडिया पर आई मीम की बाढ

यह भी पढ़ें: उत्तराखंड पुलिस को सलाम,प्लाज्मा देकर SSP दलीप सिंह कुंवर ने बचाई दो जिंदगी

श्रेणी                             गंभीर बीमारी – बिना वेंटीलेटर के आईसीयू                                          

एनएबीएच मान्यता प्राप्त              12000 रुपये (पीपीई किट के 2000 रुपये सहित)

यह भी पढ़ें 👉  उपचुनाव से पहले सियासी हवा हुई तेज उदयलाल डांगी और दीपेंद्र कुंवर बीजेपी से किए गए निष्कासित

गैर मान्यता प्राप्त                       10400 रुपये (पीपीई किट के 2000 रुपये सहित)

श्रेणी                          अति गंभीर बीमारी – वेंटीलेटर के साथ आईसीयू                                         

एनएबीएच मान्यता प्राप्त           14400 रुपये (पीपीई किट के 2000 रुपये सहित)

गैर मान्यता प्राप्त                   12000 रुपये (पीपीई किट के 2000 रुपये सहित)

यह भी पढ़ें: अब यहां नहीं लगेगी वैक्सीन, टीका लगवाने से पहले डालें हल्द्वानी के नए केंद्रों पर नज़र

यह भी पढ़ें: हल्द्वानी: RTPCR टेस्ट के लिए वसूले अधिक रुपए,एक और लैब के खिलाफ केस दर्ज

सीएमओ डॉ. भागीरथी जोशी ने निजी अस्पतालों के प्रबंधकों को पत्र लिखकर कहा कि संज्ञान में आ रहा है कि शासन की ओर से निर्धारित दरों के अतिरिक्त शुल्क वसूला जा रहा है। साथ ही अनावश्यक जांचें कराई जा रही हैं। साथ ही ऐसी ब्रांडेड दवाएं लिखी जा रही हैं जो सामान्य व्यक्ति की पहुंच से दूर है। बहरहाल अब इलाज की दरों से अधिक राशि वसूलने पर कार्रवाई की जाएगी।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड आपदा: AAP ने भाजपा सरकार पर लगाए भ्रष्टाचार व लापरवाही के आरोप, किया मौन धरना प्रदर्शन

इधर, एसीएमओ डॉ. रश्मि पंत ने बताया कि दरों को प्रत्येक निजी अस्पताल में चस्पा किया जाएगा। जिससे मरीज और उनके तीमारदारों को जानकारी मिल सके। इसके अलावा वेंटीलेटर, आईसीयू और बिना वेंटीलेटर के आईसीयू आदि की दरों की जानकारी भी मरीज एवं तीमारदार को दी जाएगी। दरें चस्पा कराने का काम एक-दो दिन में शुरू करा दिया जाएगा।

यह भी पढ़ें: हल्द्वानी में बेवजह घूमने वालों को सबक सिखाएगी Curfew एक्सप्रेस

यह भी पढ़ें: युवाओं के लिए खुशखबरी, SBI ने निकाली हज़ारों पदों पर बंपर भर्तियां, फौरन करें आवेदन

Ad
Ad
Ad
Ad
Ad
Ad - Vendy Sr. Sec. School

हल्द्वानी लाइव डॉट कॉम उत्तराखंड का तेजी से बढ़ता हुआ न्यूज पोर्टल है। पोर्टल पर देवभूमि से जुड़ी तमाम बड़ी गतिविधियां हम आपके साथ साझा करते हैं। हल्द्वानी लाइव की टीम राज्य के युवाओं से काफी प्रोत्साहित रहती है और उनकी कामयाबी लोगों के सामने लाने की कोशिश करती है। अपनी इसी सोच के चलते पोर्टल ने अपनी खास जगह देवभूमि के पाठकों के बीच बनाई है।

© 2021 Haldwani Live Media House

To Top