Haridwar News

उत्तराखंड के दंपती ने बेटे-बहु पर किया केस, दादा-दादी बनाओ या फिर पांच करोड़ दे दो…

Ad
Ad
Ad
Ad

हरिद्वार: बच्चों और माता पिता में संपत्ति को लेकर कई बार विवाद सामने आए हैं। किसी किसी मामले में तो बात हद से आगे बढ़ जाती है। इस बार हरिद्वार के दंपति और उनके बच्चों के बीच अजीबोगरीब विवाद पैदा हो गया है। बुजुर्ग दंपती का कहना है कि उन्होंने अपना सारा पैसा बेटे पर खर्च किया लेकिन अब बेटा बहु शादी के छह साल बाद भी उन्हें पोता-पोती का सुख नहीं दे पाए हैं। ऐसे में उन्होंने या तो बच्चे या पांच करोड़ रुपए देने की मांग करते हुए केस दर्ज किया है।

बता दें कि हरिद्वार की हाउसिंग सोसायटी में रह रहे संजीव रंजन प्रसाद BHEL में अफसर पद से रिटायर्ड हैं। वह रिटायरमेंट के बाद से ही अपनी पत्नी साधना प्रसाद के साथ जीवन व्यतीत कर रहे हैं। प्रसाद ने अपने बेटे-बहु पर मुकदमा दर्ज कराया है। इस मामले में उनके वकील अरविंद कुमार श्रीवास्तव ने बताया कि दंपती का इकलौता बेटा श्रेय सागर पेशे से पायलट है। बुजुर्ग दंपती ने बेटे की शादी साल 2016 में नोएडा की शुभांगी सिन्‍हा के साथ की थी।

शुभांगी सिन्हा नोएडा में नौकरी करती हैं। बेटे बहु से दंपती को बड़ी नाराजगी है। संजीव रंजन प्रसाद का कहना है कि बेटे के ऊपर अपनू पूरी कमाई लगाते हुए उसे अमेरिका में ट्रेनिंग दिलवाई। घर लोन लेकर बनाया, अब मेरे पास पैसा नहीं है। आर्थिक और व्‍यक्तिगत तौर पर बड़ी परेशानी है। ऐसे में विवाह के 6 साल बाद भी उनके बेटे-बहू बच्‍चे पैदा नहीं कर रहे हैं। बुजुर्ग पति-पत्‍नी ने अदालत में याचिका दायर की और कहा कि उन दोनों को बहुत मानसिक यंत्रणा से गुजरना पड़ रहा है।

यह भी पढ़ें 👉  ट्यूशन से निकलने के बाद कक्षा नौ की छात्रा पर बदमाशों ने की फायरिंग

हरिद्वार कोर्ट में याचिका दायर हो गई है। बुजुर्ग दंपती का साफ कहना है कि हमारे बहू-बेटे हमें हमें पोती-पोता दें, लड़का हो या लड़की हमें इससे कोई फर्क नहीं पड़ता है। या फिर वे हमें ढाई-ढाई करोड़ रुपये दें जो उन पर खर्च किया गया है। उन्होंने कहा कि बेटे को अच्छा जीवन देने कि लिए अपना सबकुछ दांव पर लगाने के बाद इस उम्र में हम अकेले रहने पर मजबूर हैं। वकील एके श्रीवास्‍तव कहते हैं कि ये आज की सच्चाई है। बच्चों तो माता पिता का ख्याल रखना चाहिए। फिलहाल, इस याचिका पर 17 मई को सुनवाई होनी है।

Join-WhatsApp-Group
Ad
To Top