Nainital-Haldwani News

हरीश रावत ने लालकुआं में जताई गड़बड़ी की आशंका, पुलिस व PAC जवानों को अबतक नहीं मिले बैलेट पेपर!


Ad
Ad
Ad
Ad

लालकुआं: प्रदेश के चुनावी समर के परिणाम 10 मार्च को सबके सामने होंगे। 10 मार्च को उत्तराखंड में नतीजे घोषित किए जाएंगे। इसे लेकर एक बार फिर पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस के चुनाव संचालन कमेटी के अध्यक्ष हरीश रावत ने बड़ा दावा किया है। उन्होंने कहा है कि कांग्रेस उत्तर प्रदेश को छोड़कर बाकी चार राज्यों में पूर्ण बहुमत से सरकार बनाएगी। इसके अलावा हरीश रावत ने लालकुआं के जवानों और कर्मचारियों के पास अभी तक पोस्टल बैलट ना पहुंचने का मुद्दा उठाया।

दरअसल कांग्रेस के वरिष्ठ नेता हरीश रावत उत्तर प्रदेश में चुनाव प्रचार कर रहे हैं। मंगलवार को हरदा लालकुआं लौटे हैं। उन्होंने कांग्रेस नगर अध्यक्ष गुरदीप सिंह के आवास पर पत्रकार वार्ता को संबोधित किया। बहरहाल हरीश रावत ने मंगलवार शाम को फेसबुक पर एक पोस्ट किया। जिसमें पोस्टल बैलेट को लेकर जिक्र था। प्रेस वार्ता में पुलिस और अन्य विभागों में कार्यरत कर्मचारियों के पास पोस्टल बैलट ना पहुंचने के सवाल पर हरीश रावत ने भाजपा पर सीधे तौर पर निशाना साधा।

यह भी पढ़ें 👉  हर घर तिरंगा अभियान से जुड़ा शैमफोर्ड स्कूल, बच्चों ने निकाली रैली

उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार में कुछ भी हो सकता है। पहले आपको बता दें कि हरीश रावत ने फेसबुक पर लिखा था कि लालकुआं विधानसभा की मतदाता सूची में ऐसे कई पुलिस व पीएसी के जवान शामिल है। जो रुद्रपुर की दोनों वाहिनियों में तैनात हैं। इन जवानों व कर्मचारियों की संख्या भी काफी अधिक है। लेकिन 1 मार्च तक भी उन्हें पोस्टल बैलेट नहीं मिले हैं। जिसके लिए उन्हें इधर-उधर भटकना पड़ रहा है।

यह भी पढ़ें 👉  हद है...काठगोदाम के पास पैराफिट पर बैठकर शराब पी रहे हल्द्वानी के दो युवक गौला नदी में गिरे

हरीश रावत ने कहा कि इस बारे में जिला निर्वाचन अधिकारी, सहायक निर्वाचन अधिकारी को जानकारी दे दी गई है। लेकिन सवाल यह नहीं है। सवाल यह है कि मतदान प्रक्रिया संपन्न हो जाने के इतने दिनों बाद भी बड़ी तादाद में जवान और कर्मचारियों के पास पोस्टल बैलेट नहीं पहुंचे हैं। ऐसे में कब छूते हुए मतदाता मतदान करेंगे, कब वह अपने मताधिकार का इस्तेमाल करेंगे

यह भी पढ़ें 👉  वैंडी सीनियर सेकेंडरी स्कूल में मनाया गया स्वतंत्रता दिवस, जयकारों से गूंजा गौलापार

हरीश रावत की माने तो सिर्फ एक दो क्षेत्रों को चिन्हित कर वोटिंग के इच्छुक कर्मियों तक मतपत्र का न पहुंचना कई सवालों को पैदा करता है। उन्होंने चुनाव आयोग से सवाल पूछा कि क्या आप इस बात का संज्ञान लेना चाहेंगे। पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने कहा कि अगर मतदान का अधिकार करने से कोई साजिशन रोक रहा है तो यह दंडनीय अपराध है। गौरतलब है कि लालकुआं से हरीश रावत कांग्रेस के अधिकृत प्रत्याशी हैं।

Join-WhatsApp-Group
To Top