Uttarakhand News

उत्तराखंड के दस जिलो में होगी होम गार्ड भर्ती, नियमों में हुआ है बड़ा बदलाव


 Uttarakhand News: उत्तराखंड होमगार्ड भर्ती के लिए बदलाव होने जा रहा है। सरकार ने उत्तर प्रदेश के समय से चले आ रहे मानकों को बदला है। उत्तराखंड में अगर कोई होमगार्ड बनना चाहता है तो 10वीं पास होना अनिवार्य कर दिया गया है। इसके साथ ही लिए अधिकतम आयु सीमा 50 वर्ष थी, जिसे घटाकर 40 वर्ष कर दिया गया है। जबकि, न्यूनतम आयु पूर्व की भांति 18 वर्ष ही रहेगी।

उत्तराखंड सरकार ने पुरुष अभ्यर्थियों के लिए लंबाई में छूट का प्रविधान भी किया गया है। मानकों में बदलाव को लेकर आदेश चार मई को जारी हो हुआ था। होमगार्ड भर्ती में शामिल होने के लिए अनिवार्य रूप से हाईस्कूल पास होना होगा। इससे पहले   पर्वतीय जिलों के लिए शैक्षिक योग्यता पांचवीं पास और मैदानी जिलों के लिए आठवीं पास थी।

पुरुष अभ्यर्थियों को लंबाई में छूट दी गई है। अभ्यर्थियों के लिए लंबाई का मानक 167.7 सेमी से घटाकर 165 सेमी किया गया है। अनुसूचित जाति-जनजाति के अभ्यर्थियों के लिए लंबाई का मानक 162 की जगह 157.5 सेमी, पर्वतीय क्षेत्र के अभ्यर्थियों के लिए 162.7 की जगह 160 सेमी किया गया है। वहीं होमगार्ड जवानों को नागरिक पुलिस की तरह वेतन व अन्य सुविधाओं का लाभ मिलेगा। वह सड़कों के अलावा कार्यालयों में भी सेवा देंगे।  होमगार्ड विभाग ने शासन को शैक्षिक योग्यता में बदलाव करने के लिए पत्र भेजा था।

इस वर्ष प्रदेश के अन्य 10 जिलों में भी 330 पदों पर महिला होमगार्ड की भर्ती होने जा रही है। इसमें ऊधमसिंह नगर, पिथौरागढ़, चंपावत, अल्मोड़ा, बागेश्वर, चमोली, रुद्रप्रयाग, पौड़ी, उत्तरकाशी और टिहरी जिला शामिल है।

मौजूदा वक्त में होमगार्ड विभाग में 215 महिला होमगार्ड तैनात हैं, जो देहरादून, हरिद्वार और नैनीताल जिले में सेवा दे रही हैं। इस पर  कमांडेंट जनरल होमगार्ड केवल खुराना ने कहा कि शैक्षिक योग्यता 10वीं पास करने का प्रस्ताव शासन ने स्वीकार लिया है। प्रदेश के 10 जिलों में भर्ती जल्द होगी। होमगार्ड जवानों को हर क्षेत्र में प्रशिक्षित किया जा रहा है।

To Top