Rudraprayag News

विश्व के सबसे लंबे रोपवे की लिस्ट में शामिल होगा केदारनाथ रोपवे, मिनटों में पूरा होगा घंटों का सफर


Ad
Ad

देहरादून: केदारनाथ धाम (Kedarnath Dham) आने वाले श्रद्धालुओं के लिए बहुत जल्द रोपवे बनने जा रहा है। इस रोपवे की लंबाई करीब 11.5 किमी होगी। इसके बनने से सोनप्रयाग से केदारनाथ तक महज 25 मिनट में पहुंचा जा सकेगा। बता दें कि निर्माण उपरांत केदारनाथ रोपवे दुनिया के सबसे लंबे रोपवे की लिस्ट में शामिल हो जाएगा।

Ad
Ad

उल्लेखनीय है कि पांच नवंबर को केदारनाथ में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी (PM Narendra Modi) ने केदारनाथ और हेमकुंड साहिब के लिए रोपवे पर काम होने की बात कही थी। इसी तरफ अब कवायद तेज कर दी गई है। पीएम मोदी के सपने के अनुरूप केदारनाथ धाम का सफर आने वाले समय में आसान होने वाला है। बता दें कि केदारनाथ के साथ ही हेमकुंड साहिब के लिए भी रोपवे की कोशिशें तेज हो गई हैं।

केदारनाथ धाम समुद्रतल से करीब साढ़े ग्यारह हजार फीट की ऊंचाई पर स्थित है। धाम में बाबा केदार के दर्शन करने आने के लिए श्रद्धालुओं को गौरीकुंड (Gaurikund) से करीब 16 किलोमीटर पैदल चलना पड़ता है। वहीं हेमकुंड साहिब तक पहुंचने को घांघरिया से लगभग पांच किमी की दूरी पैदल तय करनी पड़ती है। अब सुगमता के लिए रोपवे निर्माण की तैयारी शुरू हो गई हैं।

सचिव पर्यटन दिलीप जावलकर (Tourism secretary Dileep Jawalkar) की मानें तो रोपवे निर्माण के लिए सरकार ने राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण से एमओयू किया हुआ है। प्राधिकरण ने उक्त दोनों जगहों की डीपीआर (DPR) बनाने का जिम्मा एक कंपनी को सौंप दिया है। साथ ही निजी क्षेत्रों को आगे लाने के लिए निविदा भी आमंत्रित की गई है। अगर मामला ठीक नहीं बैठता तो सरकार खुद ही दोनों रोपवे का निर्माण कराएगी। सचिव जावलकर के मुताबिक केदारनाथ रोपवे के आकार लेने पर यह विश्व के सबसे लंबे रोपवे में शामिल हो जाएगा।

Join-WhatsApp-Group
Ad
Ad
Ad
To Top