Nainital-Haldwani News

अच्छी खबर: तीन साल बाद शुरू होगी हल्द्वानी-कुरुक्षेत्र रोडवेज बस सेवा


Ad
Ad
Ad
Ad

हल्द्वानी: रोडवेज बस यात्रियों के लिए काम की खबर है। अब कुरुक्षेत्र से हल्द्वानी का सफर तय करने वालों के लिए टेंशन की कोई बात नहीं है। तीन सालों से बंद पड़े संचालन को अब शुरू किया जा रहा है। हल्द्वानी के साथ साथ कोटद्वार के लिए भी कुरुक्षेत्र से बस सेवा (Kurukshetra to Haldwani and Kotdwar) शुरू होगी। जिससे सैंकड़ों यात्रियों को फायदा होने की उम्मीद जताई जा रही है।

बता दें कि दिसंबर 2018 में यात्रियों की कमी के चलते कुरुक्षेत्र डिपो (Kurukshetra depot) ने हल्द्वानी के लिए रोडवेज बसों का संचालन बंद कर दिया था। साथ ही कई सालों से नई बस ना मिलने की वजह करीब 10 रूटों पर संतालन बंद पड़ा है। लाजमी है कि लंबे रूटों (long routes) पर पुरानी बसों को चलाना रिस्क भरा भी साबित हो सकता है।

यह भी पढ़ें 👉  भीमताल: चंदन हत्याकांड का हुआ खुलासा, मास्टरमाइंड पत्नी समेत तीन गिरफ्तार

मगर अब हल्द्वानी आने वाले यात्रियों को दिक्कत नहीं होगी। ऐसा इसलिए क्योंकि हल्द्वानी और कोटद्वार के लिए बसों का सुचारू रूप से संचालन करने के लिए परमिट (permit) लेने की तैयारी कर ली गई है। अधिकारियों की मानें तो दिसंबर के पहले हफ्ते में ही बस सेवा शुरू हो सकती है। ड्यूटी इंस्पेक्टर (Duty Inspector) सतीश कुमार ने इस बारे में जानकारी दी।

यह भी पढ़ें 👉  हर घर तिरंगा अभियान से जुड़ा शैमफोर्ड स्कूल, बच्चों ने निकाली रैली

उन्होंने बताया कि कुरुक्षेत्र से कोटद्वार डिपो (Kotdwar depot) की दूरी 256 किलोमीटर और हल्द्वानी डिपो (Haldwani depot) की दूरी 442 किलोमीटर है। जहां कोटद्वार डिपो तक रोडवेज बस को 24 बस अड्डों तो वहीं हल्द्वानी डिपो तक 35 अड्डों पर सेवा देनी होगी। इन सभी अड्डों के यात्रियों को लाभ मिलेगा। ड्यूटी इंस्पेक्टर ने बताया कि कोटद्वार के लिए किराया 329 रुपए और हल्द्वानी के लिए 550 रुपए तय किया है।

यह भी पढ़ें 👉  भवाली- नैनीताल मोटर मार्ग दिन में खुलेगा और रात में रहेगा बंद, जरूर नोट कर लें टाइमिंग

अभी समय सारिणी नहीं बनाई गई है। इसे परमिट मिलने के बाद बना दिया जाएगा। कुरुक्षेत्र डिपो के महाप्रबंधक (General Manager Kurukshetra Depot) अशोक मुंजाल ने बताया कि तीन साल के लंबे इंतजार के बाद कोटद्वार व हल्द्वानी पर बसों का संचालन शुरू होने जा रहा है। प्रक्रिया शुरू हो गई है। उम्मीद है कि इससे उत्तराखंड जाने वाले हजारों यात्रियों को लाभ मिलेगा।

Join-WhatsApp-Group
To Top