Haridwar News

हद हो गई, उत्तराखंड में अलाव की लकड़ी के पीछे भिड़ गए विधायक और पालिका चेयरमैन

Ad
Ad
Ad
Ad
Ad

रुड़की: ठंड के कारण जगह जगह पर नगर निगम और नगर पालिका अलाव की व्यवस्था करते हैं। लेकिन ऐसा कोई मामला आपने नहीं सुना या देखा होगा जहां अलाव की लकड़ी की वजह से लड़ाई हो गई। रुड़की की मंगलौर नगर पालिका में अलाव की लकड़ी को लेकर पालिका चेयरमैन और विधायक आपस में भिड़ गए। समर्थकों में तनातनी हुई तो पुलिस ने ने लाठियां चलाईं। इस दौरान कमरे में छिपे चेयरमैन पालिका को पुलिस टीम ने आवास तक पहुंचाया।

बुधवार शाम को नगरपालिका के ठेकेदार निर्वेश शर्मा ने पालिका में अलाव के लिए लकड़ी मंगाई थी। कुछ सभासदों की शिकायत थी कि लकड़ियां गीली हैं। पालिका अध्यक्ष हाजी दिलशाद अली और उनके भाई डॉ शमशाद अली पालिका पहुंच गए। उधर, ईओ मोहम्मद कामिल ने ठेकेदार और अध्यक्ष के बीच लकड़ी के विवाद को लेकर मामले की जानकारी ज्वाइंट मजिस्ट्रेट अभिनव शाह को दी।

जिसके बाद तहसीलदार शालिनी मौर्य को मौके पर आई। मगर तब तक ठेकेदार ने मामले की जानकारी विधायक हाजी सरवत करीम अंसारी को दे दी। विधायक भी सूचना मिलते ही वहां आ गए। यहीं पर दोनों के बीच गाली गलौज हुआ और समर्थक भी भीड़ गए। ईओ मोहम्मद कामिल के मुताबिक मामले की जानकारी ज्वाइंट मजिस्ट्रेट को दी गई थी। तहसीलदार शालिनी मौर्य द्वारा जांच में लकड़ी को सही पाया गया है।

यह भी पढ़ें 👉  पहाड़ों की सुरक्षा में तैनात रहेंगी 320 बाइक, सीएम धामी ने किया फ्लैग ऑफ

अध्यक्ष नगर पालिका परिषद मंगलौर हाजी दिलशाद अली का कहना है कि विधायक ने अपने सैकड़ों समर्थकों के साथ उन पर हमला किया और अभद्र व्यवहार किया। वहीं, विधायक हाजी सरवत करीम अंसारी का कहना है कि ठेकेदार उनका समर्थक है। वह सही लकड़ी सप्लाई कर रहा है। ठेकेदार की शिकायत पर वह नगर पालिका में पहुंचे थे।

To Top