Uttarakhand News

हल्द्वानी में आंचल दूध कंपनी की नई शुरुआत, भारत सरकार ने प्रोजेक्ट को दी हरी झंडी


हल्द्वानी: लम्बे समय से प्रतीक्षरित डेरी निदेशालय भवन का आज 16 सितम्बर 2023 को राज्य योजना अंतर्गत 4 करोड़ 99 लाख 77 हजार की धनराशि लागत से डेरी निदेशालय भवन का भूमि पूजन व इसके साथ ही राष्ट्रीय डेयरी विकास कंपोनेट प्लेन अंतर्गत 2 करोड़ लागत का केन्द्रीय डेरी प्रयोगशाला भवन शिलान्यास दुग्ध विकास मंत्री सौरभ बहुगुणा द्वारा किया गया ।

प्रस्तावित कार्यक्रम के तहत उत्तराखंड मुक्त विश्वविद्यालय तीन पानी के समीप 5 करोड़ की लागत से बनने जा रहे डेरी निदेशालय भवन हेतु चयनित भूमि पर लंबे समय से भवन बनने का कवायद चल रही थी। जिस भवन का आज दुग्ध विकास मंत्री उत्तराखंड सरकार सौरभ बहुगुणा द्वारा भूमि पूजन कर नींव रखी गई।

इसके साथ ही दुग्ध विकास मंत्री द्वारा पूरे प्रदेश में दुग्ध उपभोक्ताओं को गुणवत्ता युक्त दूध व दुग्ध उत्पाद उपलब्ध हो सके आधुनिक प्रयोगशाला स्थापना हेतु शिलान्यास किया गया। उक्त शिलान्यास अवसर पर दुग्ध मंत्री सौरभ बहुगुणा ने डेरी निदेशालय व केन्द्रीय प्रयोगशाला के इस शिलान्यास को एक ग्रीन पोजेक्ट बताते हुए कहा कि इससे उत्तराखण्ड में दुग्ध व्यवसाय ग्रामीण अर्थव्यवस्था में एक शस्क्त माध्यम बनकर उभरेगा।

उन्होने कहा कि आंचल ब्रान्ड की शुद्धता ही उसकी ताकत है और आंचल का शुद्धता के क्षेत्र में किस अन्य ब्रान्डो से कोई मुकाबला है नही । उन्होने आहवान कर कहा कि आंचल ब्रान्ड को प्रदेश का हर नागरिक अपने स्तर से प्रमोट करे । इस दौरान दुग्ध मंत्री ने दुग्ध उत्पादको की मांग पर समस्त पशु से सम्बन्धित आंचल फीड दरो में अनुदान को घटाकर दरे निर्धारण किये जाने की घोषणा की जिससे दुग्ध उत्पादको को अब न्यून दरो पर आंचल पशु फीड जैेसे-भूसा, पशुआहार, साइलेज व मिनरल मिक्सर प्राप्त हो सकेगे ।

लालकुआं में आधूनिक डेरी प्लांट पर दुग्ध मंत्री ने कहा कि 80 करोड का प्रस्ताव तैयार कर भारत सरकार को धनराशि स्वीकृति हेतु प्रेषित किया गया है । जिसकी अनुमति मिलते ही जल्द ही कार्य शुरू कर दिया जायेगा । दुग्ध मंत्री सौरभ बहुगुणा ने निराश्रित पशुओं के देखभाल हेतु प्रत्येक नागरिक से सहयोग की अपील की ।

To Top