Uttarakhand News

उत्तराखंड में आसान होगा जमीन खरीदने के बाद दाखिल खारिज का काम, जानें


उत्तराखंड में आसान होगा जमीन खरीदने के बाद दाखिल खारिज का काम, जानें
Ad
Ad
Ad
Ad

देहरादून: जमीन खरीदने के बाद दाखिल खारिज के कामों में इतनी मेहनत होती है कि इंसान झुंझला जाता है। मगर अब परेशान होने की जरूरत नहीं है। शहरी विकास निदेशालय इस सिस्टम को भी घऱ तक पहुंचाने की कोशिश कर रहा है। मतलब आने वाले समय में घर बैठे ही दाखिल खारिज मिल जाया करेगा।

शहरी विकास निदेशालय की तैयारियों का अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि नगर निकायों से टीमें बुलाकर प्रशिक्षण दिया जाना भी शुरू हो गया है। सहायक निदेशक विनोद कुमार आर्य ने बताया कि सभी निकायों में ट्रेनिंग का काम पूरा कर जनता के लिए सेवा शुरू की जाएगी। एक-दो दिन में ट्रेनिंग पूरी होने वाली है।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड कैबिनेट मंत्री धन सिंह रावत हुए क्वारंटाइन, टाले गए सारे कार्यक्रम...

यह भी पढ़ें: वंदना कटारिया की हैट्रिक ने किया कॉलोनीवासियों का काम

यह भी पढ़ें: उत्तराखण्ड में जनता को मिलेगी रोपवे और केबिल कार की सौगात, दिल्ली से आई गुड न्यूज

बता दें कि जमीन खरीदने के बाद मालिक को दाखिल खारिज के लिए अह निकायों के चक्कर नहीं काटने पड़ेंगे। प्रदेश के किसी भी नगर निकाय में जमीन खरीदने पर आपको केवल शहरी विकास निदेशालय की वेबसाइट पर जाना होगा।

यहां पर ऑनलाइन आवेदन करने के बाद संबंधित निकाय की टीम इस जमीन की खरीद-फरोख्त का वेरिफिकेशन करेगी। इसके बाद जमीन खरीदने वाले को मोबाइल पर लिंक मिलेगा। जिसके द्वारा शुल्क भी ऑनलाइन जमा कर दिया जाएगा।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड में स्पेशल फोर्स का गठन...क्षेत्र में नशा मिला तो थाना प्रभारी की लगेगी क्लास

खास बात ये है कि एक बार यह प्रक्रिया अपनाने वाला व्यक्ति 20 साल बाद भी दाखिल खारिज हासिल कर सकेगा। लिहाजा इस प्रक्रिया के शुरू होने से निकायों के चक्करों के साथ साथ दलालों को रुपए भी नहीं देने पडे़ंगे।

यह भी पढ़ें: नैनीताल जिले में Extra marital अफेयर का मामला,दोनों ने खाया जहर

यह भी पढ़ें: आयुष्मान कार्ड से आसान हुआ जनता का इलाज,हॉस्पिटलों पर है उत्तराखंड स्वास्थ्य प्राधिकरण की नजर

ध्यान रहे कि दाखिल खारिज का ऑनलाइन आवेदन करने के लिए उन्हें सेल डीड की फोटो, रजिस्ट्री की फोटो, रजिस्ट्री का नंबर, बेचने वाले और खरीदने वाले की आईडी प्रूफ के फोटो वेबसाइट पर ही अपलोड करने होंगे। अलग-अलग जमीनों के लिए अलग-अलग दस्तावेज का प्रावधान किया गया है।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड के सभी जिलों में होगी बारिश, मौसम विभाग ने कहा अलर्ट पर रहें अधिकारी

शहरी विकास निदेशालय के संयुक्त निदेशक कमलेश मेहता के मुताबिक दाखिल खारिज की प्रक्रिया को ऑनलाइन करने की तैयारी हो गई है। कुछ दिन ट्रायल के बाद पूरी तरह ये सेवा शुरू कर दी जाएगी। लोगों को घर बैठे दाखिल खारिज मिलेंगे।

यह भी पढ़ें: युवक तीन पत्ती में हारा 25 हजार रुपए, हल्द्वानी पुलिस को दी झूठी लूट की सूचना

यह भी पढ़ें: हिमाचल प्रदेश से हरिद्वार आ रही बस दुर्घटनाग्रस्त, चट्टान के नीचे दबे यात्री

Join-WhatsApp-Group
To Top