Haridwar News

पटवारी पेपर लीक के बाद सड़कों पर उतरे युवा, UKPSC कार्यालय में घुस गए प्रदर्शनकारी

Ad
Ad
Ad
Ad
Ad

देहरादून: लेखपाल पटवारी परीक्षा पेपर लीक मामला सामने आने के बाद एक बार फिर सरकार की कार्यशैली पर सवाल उठ रहे हैं। परीक्षा उत्तराखंड लोक सेवा आयोग द्वारा कराई गई थी। पटवारी लिखित परीक्षा को रद्द कर दिया गया है। वहीं एक और पेपर लीक मामले ने युवाओं के पारे को सातवें आसमान पर पहुंचा दिया है।

एसटीएफ ने इस मामले में 5 लोगों को गिरफ्तार कर लिया है। पेपर लीक मामले के बाद तमाम राजनीतिक दलों के साथ युवाओं ने सरकार के खिलाफ नारेबाजी की और राज्य के कई शहरों में विरोध प्रदर्शन भी देखने को मिले है।

 विधायक ज्वालापुर रवि बहादुर और अन्य कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने बैरियर तोड़कर लोक सेवा आयोग के अंदर घुसकर हंगामा किया। इसके बाद हड़कंप मच गया और तमाम कार्यक्रम छोड़कर पुलिस आला अधिकारी मौके पर पहुंचे। पुलिस को कांग्रेस कार्यकर्ताओं को रोकने में काफी मशक्कत करनी पड़ी।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड में बाइक से घर जा रहे दो भाइयों की मौत, सामने आई पूरी कहानी

विधायक रवि बहादुर ने आरोप लगाया कि सरकार बेरोजगारों के सपनों के साथ खेल रही है। राज्य सरकार हर मोर्चे पर फेस हुई है। यूकेएसएसएससी मामला शांत भी नहीं हुआ था और अब ये धांधली सामने आई है। युवाओं का वक्त बर्बाद किया जा रहा है।

यह भी पढ़ें 👉  नशा बुरी चीज है...उत्तराखंड में युवक ने दोस्त को कुल्हाड़ी से मार डाला

बता दें कि पटवारी का पेपर लीक होने के बाद परीक्षा निरस्त कर दी गई है। अब यह परीक्षा फिर से 12 फरवरी को आयोजित की जाएगी। इसके अलावा सहायक लेखाकार की परीक्षा तिथि बदलकर 19 फरवरी 2023 कर दी गई है।

यह भी पढ़ें 👉  ऐसा भी क्या दहेज...देवभूमि में मनपसंद कार नहीं मिली तो शादी ही कैंसल कर दी!

To Top