Haridwar News

रुड़की के 22 वर्षीय प्रदीप सिंह का भारतीय वायु सेना में चयन, फाइटर प्लेन उड़ाएगा देवभूमि का लाल


Ad
Ad
Ad
Ad

रुड़की: देवभूमि के युवाओं की सबसे खास बात ये है कि वे अपने परिवार की परंपरा को आधुनिक जमाने की पश्चिमी सभ्यता से ज्यादा तवज्जो देते हैं। यही कारण है कि उत्तराखंड को सैन्य भूमि भी कहा जाता है। इसी कड़ी में इस बार सेना के सूबेदार का बेटा भारतीय वायुसेना में फाइटर पायलट बन गया है। जी हां, रुड़की के रहने वाले प्रदीप सिंह का चयन एयर फोर्स में फ्लाइंग पायलट के पद पर हुआ है।

रुड़की की न्यू अशोक नगर कॉलोनी के निवासी प्रदीप सिंह 84 उत्तराखंड वाहिनी एनसीसी के कैडेट रहे हैं। प्रदीप की उम्र 22 साल है मगर सेना में भर्ती होकर देश सेवा करने का हौसला उनके मन में पहले से था। इसलिए उन्होंने एनसीसी ज्वाइन की और अब अपनी मेहनत और लगन के बलबूते वह भारतीय वायु सेना में सिलेक्ट हो गए हैं। प्रदीप की सफलता का श्रेय उनके पिता महिपाल सिंह को भी जाता है।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड: भाजपा के हर घर तिरंगा कार्यक्रम में दो नेताओं के बीच हुआ विवाद... फायरिंग से फैली सनसनी

बता दें कि प्रदीप के पिता महिपाल सिंह 12 गढ़वाल राइफल में सूबेदार के पद पर सेवाएं दे चुके हैं। अब प्रदीप की मेहनत रंग लाई और उनका चयन एयर फोर्स में हो गया है। इस मौके पर गांव ही नहीं बल्कि पूरे क्षेत्र के लोग उन्हें बधाइयां दे रहे हैं। पिता महिपाल सिंह भी बहुत गौरवान्वित महसूस कर रहे हैं। लाजमी है कि उनके परिवार के लिए एक बहुत गौरवमयी क्षण है।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड: भाजपा के हर घर तिरंगा कार्यक्रम में दो नेताओं के बीच हुआ विवाद... फायरिंग से फैली सनसनी

इस अवसर पर 84 उत्तराखंड वाहिनी एनसीसी के प्रधान सहायक गोपाल शर्मा ने बताया कि प्रदीप ने साल 2017 में केएलडीएवी पीजी कॉलेज रुड़की में एनसीसी ज्वाइन की थी। इसके बाद साल 2018 में प्रदीप को नई दिल्ली में ऑल इंडिया थल सैनिक कैंप में हिस्सा लेने का भी अवसर मिला था। बहरहाल अब बेटा वायु सेना में फाइटर पायलट बन गया है। वाकई प्रदीप सिंह ने आजकल के अनेकों युवाओं की तरह उत्तराखंड का नाम एक बार फिर से ऊंचा कर दिया है।

Join-WhatsApp-Group
To Top