Uttarakhand News

उत्तराखंड बोर्ड परीक्षा में प्रवेंद्र को मिली 19वीं रैंक, पढ़ाई के साथ बकरी चराई और खेती भी करनी पड़ी थी


Uttarakhand news: Uttarakhand Board result: Pravendra singh: Success story: पहाड़ के छात्र आज हर क्षेत्र में अपने हुनर का लोहा मनवा रहे हैं।  पहाड़ के बेटे अपने सपने को पूरा करने के लिए हर चुनौतियों से लड़कर अपने सपनों की उड़ान भर रहे हैं। एक बार फिर बेटे के परिश्रम ने अपने पहाड़ के साथ उत्तराखंड का नाम रोशन किया है। जिस उमर में बच्चे वीडियो गेम, मोबाइल, टीवी पर हमेशा अपना समय गुजारते हैं। वहीं कुछ बच्चे ऐसे भी होते हैं जो इन सभ चीजों को छोड़ कर कुछ ऐसा कर जाते हैं। जिससे पूरा राज्य और देश गर्व महसूस करता है। आज हम जिस युवा छात्र के बारे में आपको बताने जा रहें हैं उन्होने भी कुछ ऐसा कर दिखाया है जिससे पूरे राज्य और देश को उनपर गर्व है। हम बात कर रहे हैं प्रवेंद्र सिंह की। जिन्होने उत्तराखंड बोर्ड के मेरिट सूचि मेंं 19वा स्थान प्राप्त किया है।

पढ़ाई के साथ बकरी चराई और खेती की:

प्रवेंद्र चमोली जिले के एक दूरस्थ गांव ईराणी के रहने वाले हैं। जब बोर्ड के परिणाम घोषित हुए तो उन्हेे इसकी कोई जानकारी नही थी। उस समय वे खेत में गुड़ाई का काम कर रहे थे। जैसे ही उन्हें पता चला कि उनका नाम मेरिट में आया है तो वे खेत में ही झूम उठे। ईराणी के प्रवेंद्र सिंह ने राजकीय इंटर कॉलेज पाणा-ईराणी से 12वीं की परीक्षा दी। उन्होने 500 में से 464 अंक हासिल किए और 92.80 प्रतिशत के साथ 19वीं रैंक हासिल की। प्रवेंद्र के पिता देवेंद्र सिंह बकरी पालन का काम करते हैं, वहीं उनकी मां हेमा एक गृहणी हैं। प्रवेंद्र का कहना है कि उनकी मां अकसर बीमार रहती हैं। ऐसे में उन्होने पढ़ाई के साथ घर के काम में भी मां का हाथ बंटाया, बकरी चराई और खेती भी की। प्रवेंद्र के इस जज्बे को हम सलाम करते है। और उनकी इस उपलब्धि पर हल्दवानी लाइव की तरफ से उन्हे ढ़ेर सारी बधाई और शुभकामनाएं।

To Top