Uttarakhand News

बड़ी खबर: भर्ती परीक्षा धांधली में तीन बड़े नाम सामने आए, तीनों गिरफ्तार

Ad
Ad
Ad
Ad

देहरादून: उत्तराखंड अधीनस्थ सेवा चयन आयोग की एक और भर्ती परीक्षा में तीन बड़े नाम सामने आने के बाद उन्हें गिरफ्तार किया गया है। साल 2016 में कराई गई वीपीडीओ भर्ती परीक्षा में धांधली की जांच के बाद एसटीएफ ने बड़ा एक्शन लिया है। शनिवार को यूकेएसएसएससी के पूर्व चेयरमैन आरवीएस रावत, सचिव मनोहर कन्याल और पूर्व परीक्षा नियंत्रक आरएस पोखरिया को गिरफ्तार किया है।

इसमें कोई दोराय नहीं कि इसे भर्ती परीक्षा प्रकरण में अब तक की सबसे बड़ी कार्रवाई माना जा रहा है। गौरतलब है कि 2016 के मामले में लंबे समय से जांच चल रही थी। उत्तराखंड शासन द्वारा साल 2017 में ही जांच समिति का गठन किया गया था। इसके बाद साल 2019 में अनियमितताएं सामने आई थी। विजिलेंस की ओर से मुकदमा दर्ज किया गया था।

बता दें मुख्यमंत्री पुष्कर धामी के निर्देश के बाद इसी साल अगस्त महीने में विवेचना एसटीएफ को स्थानांतरित हुई थी और अब बड़ा एक्शन लिया गया है। आयोग द्वारा पिछले सात सालों में करवाई गई भर्तियों में गड़बड़ी के मामले में आयोग के सचिव संतोष बड़ौनी, पूर्व परीक्षा नियंत्रक नारायण सिंह डांगी व तीन अनुभाग अधिकारियों पर गिरफ्तारी की तलवार लटक गई है।

Join-WhatsApp-Group
Ad
यह भी पढ़ें 👉  धामी सरकार ने दी जिम्मेदारी, पत्रकार योगेश भट्ट बने उत्तराखंड सूचना आयुक्त
To Top