Nainital-Haldwani News

हल्द्वानी की स्वाति जोशी को मिला नेशनल यंग साइंटिस्ट अवार्ड, शहर के लिए गर्व की बात

Swati Joshi, young scientist award story:- उत्तराखंड राज्य में बेटियों ने हमेशा से ही शिक्षा के क्षेत्र में अपना उत्कृष्ट प्रदर्शन दिखाया है। उत्तराखंड की बेटियां अपनी कड़े मेहनत और लगन के कारण आज बड़े से बड़े पदों पर कार्यभार को संभाल रही है। विज्ञान के क्षेत्र में भी राज्य की बेटियों ने अपना नाम अर्जित किया है। उत्तराखंड की ऐसी ही एक और होनहार बेटी ने विज्ञान के क्षेत्र में अपना शानदार प्रदर्शन दिखा कर यंग साइंटिस्ट अवार्ड को अपने नाम किया है। हम बात कर रहे हैं कुमाऊं विश्वविद्यालय के डीएसबी परिसर की छात्रा स्वाति जोशी की।

डीएसबी कैंपस कुमाऊं विश्वविद्यालय के जंतु विज्ञान विभाग की छात्रा स्वाति जोशी को पंतनगर में आयोजित थर्ड बायोटेक्नोलॉजी नक्लेव नैशनल कांफ्रेंस में नैशनल यंग साइंटिस्ट के अवार्ड से नवाजा गया है। उधम सिंह नगर जिले के हल्दी, पंतनगर में आयोजित एनिमल न्यूट्रीशनल एवम बायोटेक्नोलॉजी विषय पर हुए तीन दिवसीय नैशनल कांफ्रेंस में उत्कृष्ट अनुसंधान प्रेजेंटेशन देने पर स्वाति को यह पुरुस्कार मिला है।

स्वाति हल्द्वानी में तिकोनिया के समीप रहती हैं। उन्होंने महिला कॉलेज हल्द्वानी से अपनी बीएससी की है तथा डीएसबी केंपस नैनीताल से जंतु विज्ञान में अपनी एमएससी की पढ़ाई कर रही हैं। स्वाति की इस उपलब्धि पर डीएसबी परिसर निदेशक प्रोफेसर नीता बोरा शर्मा, प्रोफेसर संजय पंत, प्रोफेसर एचसीएस बिष्ट, प्रोफेसर ललित तिवारी, डॉ हिमांशु लोहनी आदि ने स्वाति को बधाई दी है।

बता दिया जाए कि यह कार्यक्रम यूसीबी, हल्दी, सीवीएएससी और जीबी पंत द्वारा आयोजित कराया गया था, जिसमें मुख्य अतिथि डॉ. के.पी. सिंह, कुलपति, महात्मा ज्योतिबा फुले रोहिलखंड विश्वविद्यालय, बरेली; डॉ. मनमोहन चौहान कुलपति पंतनगर विश्वविद्यालय; डॉ. संजय शर्मा निदेशक उत्तराखंड काउंसिल ऑफ बायोटेक्नोलॉजी; डॉ. लक्ष्मीकांत निदेशक आईसीएआर अल्मोडा; डॉ. संजय कुमार, अध्यक्ष, एएसआरबी, नई दिल्ली; डॉ. मनीष कुमार चैटली, निदेशक आईसीएआर-सीआईआरजी, मखदूम; डॉ. एन.एन. पाठक पूर्व निदेशक, सीआईआरबी, हिसार हरियाणा सहित अन्य वैज्ञानिक शामिल थे।

To Top
Ad