Dehradun News

उत्तराखंड में पकड़े गए तीन युवक, केवल शौक के लिए चुराते थे महंगी गाड़ियां

Ad
Ad
Ad
Ad

देहरादून: शौक बड़ी चीज है। इस कहावत को तीन युवकों ने धड़ाधड़ चोरियां कर सिद्ध किया है। जी हां, तीन युवकों को उनके महंगी बाइक चलाने के शौक ने चोर बना दिया। पुलिस ने तीनों चोरों को गिरफ्तार कर लिया है। पता चला है कि तीनों एक गाड़ी को मन भरने तक चलाते थे। फिर दूसरी चोरी की तैयारियां करते थे। पुलिस ने चोरों के पास से तीन स्कूटी व पांच बाइक बरामद की हैं।

एसएसपी दलीप सिंह कुंवर ने प्रेस वार्ता में मामले की जानकारी दी और बताया कि बीती 14 अगस्त को रायपुर के तुनवाला से प्रदीप शर्मा, 21 अगस्त को सुंदरवाला से असलम सैफी और 20 सितंबर को ज्योतिर्मय एन्क्लेव तुनवाला से प्रवीण कुमार की बाइक गायब हुई थीं। जिसके बाद रायपुर थानाध्यक्ष मनमोहन सिंह नेगी ने अज्ञात पर मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू की।

एसएसआई आशीष रावत के नेतृत्व में पुलिस की टीम ने सीसीटीवी फुटेज की मदद से तीन युवकों को खोजा और चोरी किए वाहनों के नंबर के आधार पर रविवार की रात बंदरकोट तिराहे पर तीनों को पकड़ लिया। मूल रूप से ग्राम-बौन (डुंडा) उत्तरकाशी के रहने वाले चोरों की पहचान सोमेश कुमार, परमवीर और आयुष के रूप में हुई है।

यह भी पढ़ें 👉  भारतीय क्रिकेट छोड़ने के बाद अब बांग्लादेश में खेलेंगे उत्तराखंड के उनमुक्त चंद

बता दें कि तीनों चोरी की हुई बाइक का इस्तेमाल कर रहे थे जबकि तीन स्कूटी और दो बाइक उन्होंने दून के बालावाला में जंगल में छिपा रखी थीं। मसूरी के होटल में काम करने वाला मास्टरमाइंड सोमेश ही दोस्तों को गांव से लेकर आया था। उसके बाद तीनों ने महंगी बाइक चलाने के शौक को पूरा करने के लिए चोरी का प्लान बनाया। तीनों आरोपित बेरोजगार हैं। तीनों की उम्र 18-19 साल के आसपास है।

Join-WhatsApp-Group
Ad
To Top