Nainital-Haldwani News

हल्द्वानी-दांतों का मामूली दर्द दे सकता है बड़ी बीमारी को न्यौता: डॉ. रुद्राक्ष पंत


Ad
Ad

हल्द्वानी: दांतों की समस्याएं देखने व सुनने में इतनी भयंकर नहीं लगती हैं। मगर ये खतरनाक वक्त के साथ हो जाती हैं। अमूमन तौर पर हम और आप अपने दांतों और मुंह का ख्याल नहीं रखते। हल्का सा दर्द होता है तो हम इसे आम समझते हैं। लेकिन ऐसे मामलों में सतर्क होने की जरूरत है। दांतों का दर्द बढ़ता है तो भयानक रूप ले लेता है। इसलिए डेंटिस्ट की सलाह जरूरी है। हल्द्वानी मैक्सफेस क्लीनिक (Haldwani maxface clinic) के दंत चिकित्सक रुद्राक्ष पंत ऐसी ही कुछ टिप्स साझा करते रहते हैं। उनका कहना है कि दांतों के लिए हमें थोड़ा संवेदनशील होने की जरूरत है। हम आज आपके लिए कुछ टिप्स लेकर आए हैं।

Ad
Ad

दांत कटाव

दांत में कटाव होना बेहद दर्दनाक हो सकता है। मूल तौर पर बात करें तो दांत का क्षरण दांतों की संरचना का नुकसान है। यह एसिड इनेमल पर हमला करने के कारण होता है। लक्षण संवेदनशीलता से लेकर अधिक गंभीर समस्याओं जैसे क्रैकिंग तक हो सकते हैं। हालांकि दांतों का क्षरण सामान्य है मगर यदि अच्छे से दैनिक तौर पर देखभाल की जाए तो इसे आसानी से रोका जा सकता है। डॉ. रुद्राक्ष पंत बताते हैं कि मुंह का एसिड दांतों के क्षरण का कारण बन सकता है। यह आपके दांतों में दरार डाल सकता है। इसलिए तुरंत अपने चिकित्सक की सलाह लें। को संवेदनशील बना सकता है या उनमें दरार भी डाल सकता है।

दांत संवेदनशीलता

दांतों में संवेदनशीलता वैसे तो आम बात है। लेकिन अगर दर्द या बेचैनी हो रही है तो उचित सलाह लेना जरूरी है। डॉ. रुद्राक्ष पंत के मुताबिक मीठा, ठंडी हवा, गर्म पेय, शीत पेय, आइसक्रीम की वजह से प्रमुख तौर पर दांतों में संवेदनशीलता होती है। संवेदनशील दांत ब्रश करने और फ्लॉस करने में दर्द कर सकते हैं। ये दांतों की सड़न का भी संकेत हो सकता है। ऐसे में दांत की किसी बीमारी या फिर जबड़े की हड्डी के संक्रमण से बचने के लिए अपने दंत चिकित्सक से इस बारे में बात करें।

यह भी पढ़ें 👉  हल्द्वानी से चलने वाली रोडवेज बसों में गाना बजाना बंद

दांत दर्द और दंत आपात स्थिति

दांतों की चिकित्सकीय आपात स्थिति आपको परेशान कर सकती है। जब एक दांत टूटा या फटा हो, एक फोड़ा हुआ दांत हो या फिर किसी दुर्घटना में दांत का खोना भी अपात स्थिति पैदा कर सकता है। डॉ. रुद्राक्ष पंत का कहना है कि एक टूटा या अव्यवस्थित जबड़ा, आपकी जीभ-होठों या मुंह में गंभीर घाव. एक दांत का फोड़ा जिससे निगलने में कठिनाई होती है या चेहरे की सूजन है तो आपको निश्चित रूप से तुरंत डेंटिस्ट से सलाह लेने की जरूरत है।

Join-WhatsApp-Group
Ad
Ad
Ad
To Top