Election Talks

कालाढूंगी विधानसभा का घमासान, गजराज को मनाने हल्द्वानी पहुंचे त्रिवेंद्र सिंह रावत


Ad
Ad
Ad
Ad

हल्द्वानी: कालाढूंगी विधानसभा सीट पर पूर्व दर्जा मंत्री गजराज बिष्ट के नामांकन के बाद भाजपा टीम में टेंशन पैदा हो गया है। गजराज सिंह बिष्ट के नामांकन करने से भाजपा को नुकसान हो सकता है और भाजपा इसके डैमेज कंट्रोल में उतर आई है। उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत गजराज बिष्ट से मिलने पहुंचे हैं। माना जा रहा है कि वह उन्हें नामांकन वापस करने हेतु मनाने की कोशिश करेंगे। बता दे कि कालाढूंगी विधानसभा और हल्द्वानी विधानसभा से टिकट ना मिलने की वजह से गजराज बिष्ट ने निर्दलीय मैदान पर उतरने का फैसला किया है। उन्होंने अपने जनसंवाद में मौजूदा विधायक बंशीधर भगत पर भी निशाना साधा और खुद के स्वार्थ के लिए कार्यकर्ताओं का इस्तेमाल करने का आरोप भी लगाया। गजराज सिंह बिष्ट लंबे वक्त से कालाढूंगी विधानसभा में सक्रिय हैं और उनके पास अपना एक वोट बैंक है। इसे देखते हुए भाजपा उन्हें मनाने की पूरी कोशिश कर रही है। नामांकन वापस लेने की आखिरी तारीख 31 जनवरी है।

Join-WhatsApp-Group
To Top