Uttarakhand News

अंकिता के परिवार को 25 लाख का मुआवजा देने पर छिड़ी बहस

Ad
Ad
Ad
Ad

देहरादून: अंकिता भंडारी हत्याकांड को लेकर इस समय पूरे देश में हल्ला है। बीते दिन मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी द्वारा अंकिता के परिवार को 25 लाख रुपए का मुआवजा दिए जाने की घोषणा के बाद से ट्विटर पर बहस छिड़ गई है। देश के चर्चित कवि कुमार विश्वास (Dr Kumar Vishwas) ने ट्विटर पर एक पोस्ट की। जिसके बाद एक अलग ही लड़ाई शुरू हो गई है।

दरअसल कुमार विश्वास का कहना है कि पुलकित के रिजॉर्ट और संपत्ति को नीलाम कर अंकिता के परिवार को मुआवजा दिया जाना चाहिए। उन्होंने लिखा कि “पर क्यूँ ? सत्ता के अहंकार में डूबे उस नीच दुर्योधन हना है कके स कुकर्मों का मुआवज़ा टैक्स-पेयर के पैसे से क्यूँ दिया जाएगा ? उस नराधम के रिसोर्ट और सम्पत्तियों की नीलामी करके इस बिटिया के परिजनों को सारा धन दिया जाए। अनाचार करें पॉलिटिकल परिवार के संरक्षण में पले बेलगाम लड़के और भरे जनता ?”

इसे लेकर ट्विटर पर एक बहस शुरू हो गई है। लोगों का कहना है कि कुमार विश्वास का ट्वीट बिल्कुल ठीक है। एक यूजर का कहना है कि कुछ नहीं होगा वो सत्ता पक्ष के नेताओं का लड़का है। गौरतलब है कि सरकार ने अंकिता के परिजनों को आर्थिक सहायता देने के साथ मामले को फास्ट ट्रैक कोर्ट में ले जाने की भी बात कही थी।

Join-WhatsApp-Group
Ad
यह भी पढ़ें 👉  कैबिनेट मंत्री के भाई के घर पर डकैती, एक लाख का इनामी बदमाश दबोचा गया
To Top