Uttarakhand News

उत्तराखंड भर्ती धांधली, CBI जांच की मांग को लेकर सामने आया नया अपडेट

देहरादून : युवाओं के भारी विरोध प्रदर्शन के बीच शासन प्रशासन पूरी मुस्तैदी के साथ मामले पर पैनी नजर बनाए हुए था। शुक्रवार शाम को मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी के निर्देश पर अपर मुख्य सचिव राधा रतूड़ी ने बेरोजगार संगठन के प्रतिनिधिमंडल से मुलाकात भी की। युवाओं द्वारा लगातार की जा रही सीबीआई जांच पर उन्होंने कहा कि, इसकी अभी औचित्य नहीं है। इस पर उच्च स्तर पर विचार हो जाएगा।

मीडिया से बात करते हुए उन्होंने अपनी कहानी भी सुनाई। उन्होंने कहा कि, मैं स्वयं प्रतियोगी परीक्षा पास कर नौकरी में आई। मैं युवाओं का दर्द समझ सकती हूं। जब हम बेरोजगार होते हैं, तो सबसे पहली बात होती है कि हमें नौकरी मिल जाए। अपर मुख्य सचिव ने कहा कि हम मिडिल क्लास फैमिली से हैं और अपनी ही मेहनत की कमाई पर निर्भर हैं, मैं दर्द समझती हूं। उन्होंने ये भी कहा कि समस्याओं का हल बातचीत करने से ही निकलेगा।

गौरतलब है कि युवाओं ने मुख्य तौर पर तीन मांगें रखी हैं। पहला ये कि जांच सीबीआई द्वारा कराई जानी चाहिए। इसपर सचिव ने कहा कि पिछले एक साल में जिन परीक्षाओं में अनियमितता हुईं, उनकी एसटीएफ और एसआईटी से निष्पक्ष जांच कराई गई। कई दोषी जेल की सलाखों के पीछे हैं। राज्य में कानून लाया जा रहा है, देश में इतना सख्त कानून किसी भी राज्य में नहीं है।

साथ ही अपर मुख्य सचिव ने ये भी बताया कि परीक्षा रद्द होने से उन्हें बहुत निराशा होगी। उन्होंने कहा कि यदि एक जांच निष्पक्ष तरीके से चल रही है, तो उस जांच को खत्म करके कोई दूसरी जांच कराने का औचित्य है कि नहीं, उच्च स्तर पर विचार हो जाएगा। उल्लेखनीय है कि सीएम धामी ने इन मामलों में कोई अधिकारी या कर्मचारी भी शामिल है तो सबके विरुद्ध कार्रवाई के निर्देश दिए हैं।

To Top
Ad