Ad
Uttarakhand News

उत्तराखंड रोडवेज के चालक-परिचालकों को कड़ी चेतावनी, बसों को बाइपास रूट से ना निकालें…

Ad
Ad
Ad
Ad
Ad

देहरादून: गर्मियों की छुट्टियों के मद्देनजर पर्यटन सीजन भी शुरू होने वाला है। इसके साथ ही उत्तराखंड में यात्रा का सीजन भी अब जल्द ही आरंभ हो जाएगा। इसी वजह से उत्तराखंड परिवहन निगम ने कमर कस ली है। निगम द्वारा रोडवेज बसों की व्यवस्थाओं को दुरुस्त किया जा रहा है। रोडवेज प्रबंधन नहीं चाहता कि सीजन में कमाई के मौके छोड़कर खामियां ठीक करने पर ध्यान दिया जाए। इसलिए पहले से ही तैयारियां जोरो शोरों से चल रही हैं।

इसी कड़ी में अब रोडवेज प्रबंधन ने अपने चालकों व परिचालकों को बस संचालन हेतु कड़ी चेतावनी जारी कर दी है। जिसमें प्रबंधन ने कहा है कि बसों को बाइपास मार्ग से बिल्कुल ना निकाला जाए। महाप्रबंधक दीपक जैन ने आदेश दिए हैं कि नॉन स्टॉप वोल्वो बस के अलावा किसी भी बस का संचालन अगर बाइपास या एक्सप्रेस वे पर किया जाता है तो चालक-परिचालक को इसका खामियाजा भुगतना पड़ेगा।

यह भी पढ़ें 👉  सीएम धामी से मिलने पहुंचे अभिनेता नाना पाटेकर, एक खुशखबरी सामने आई

ऐसा करते पाए जाने पर चालक व परिचालक पर कार्रवाई की जाएगी। गौरतलब है कि बाइपास से बसों को ले जाने में कम समय लगता है लेकिन इस वजह से कई यात्रियों को दिक्कत का सामना करना पड़ता है। इधर, महाप्रबंधक दीपक जैन ने ऑफरोड बसों को भी ऑनरोड लाने के निर्देश दिए हैं। साथ ही कहा कि बसों की स्थिति तत्काल रूप से ठीक की जाए। इसके अलावा डिपो के प्रबंधकों को आदेश दिया गया कि नियमित जांच कर अधिक से अधिक बस संचालन किया जाए।

यह भी पढ़ें 👉  रामपुर तिराहा कांड को यादकर भावुक हुए सीएम धामी, शहीद स्थल पर किया एक ऐलान

बता दें कि देहरादून पर्वतीय डिपो से मसूरी, हल्द्वानी से नैनीताल और नैनीताल से हल्द्वानी के लिए पर्याप्त बसों का संचालन करने के निर्देश भी दिए गए हैं। महाप्रबंधक ने कहा है कि जो भी चालक परिचालक दून की ओर से कुमाऊं जाने वाली बसों को बाइपास मार्ग से ले जाएंगे उनके वेतन से कटौती की जाएगी। इसके अलावा सभी मंडल और दून-दिल्ली मार्ग पर रुड़की-मुजफ्फरनगर-मेरठ मार्ग से बसों का संचालन करने के आदेश दिए गए।

Join-WhatsApp-Group
To Top