Uttarakhand News

कोरोना: मौतों के आंकड़ों ने बढ़ाई उत्तराखंड की चिंता,देश भर में दूसरे स्थान पर पहुंचा डेथ रेट


कोरोना काल:मौतों के आंकड़ों ने बढ़ाई उत्तराखंड की चिंता,देश भर में दूसरे स्थान पर पहुंचा डेथ रेट

देहरादून: कोरोना का प्रकोप भले ही धीरे धीरे कम हो रहा है। रिकवरी रेट भी ऊपर बढ़ रहा है। लेकिन चिंताजनक बात प्रदेश का मृत्यु रेट है। कोरोना से हुई मौतों के मामले में उत्तराखंड के आंकड़े वाकई डराने वाले हैं। बता दें मृत्यु दर के लिहाज से उत्तराखंड देश भर में केवल दूसरे ही स्थान पर है। देवभूमि से ऊपर इस लिस्ट में केवल पंजाब है।

देश की ओवरऑल बात करें तो मृत्यु दर प्रदेश से कम है। इधर राज्य में कोरोना से मारने वालों की दर 1.90 प्रतिशत है, जो पंजाब की मृत्यु दर 2.5 प्रतिशत के बाद देश के 36 राज्य व केंद्र शासित प्रदेशों में सर्वाधिक है। इसके अलावा पूरे देश में कोरोना से मृत्यु होने की दर यहां से बेहतर है, जो कि फिलहाल 1.15 प्रतिशत चल रही है।

यह भी पढ़ें 👉  एक बार फिर चर्चा में हरक सिंह रावत...बोले मुझे BJP कोर ग्रुप बैठक में नहीं बुलाया

उत्तराखंड में संक्रमण से अब तक टोटल 6113 मरीजों की मौत हो चुकी हैं। मौतों के लिहाज से उत्तराखंड में स्थिति खराब है। हालंकि कुच राहत पहले से जरूर मिली है। बता दें कि राज्य में कोरोना की पहली लहर के दौरान मौतें काम हुई थी। दूसरी लहर के दौरान बड़ी संख्या में मरीजों की मौत हो रही है।

यह भी पढ़ें 👉  शिक्षा विभाग ने अगले आदेश तक उत्तराखंड में बंद किए सभी स्कूल,कोरोना का खतरा बढ़ रहा है

सोशल डेवलपमेंट फॉर कम्युनिटी फाउंडेशन संस्था राज्य के कोरोना के आंकड़ों की मॉनिटरिंग कर रही है। संस्था के अध्यक्ष संस्थापक अनूप नौटियाल ने कहा की सरकार से विशेष प्रयासों को जरूरत है। बैकलॉग भी एक बड़ी समस्या बनकर उभरा है। अस्पतालों द्वारा छिपाया गया मौत का वास्तविक आंकड़ा अब धीरे धीरे सामने आ रहा है। पिछले दस दिन से लगातार बैकलॉग मौत के आंकड़े में जुड़ रहा है।

To Top