Uttarakhand News

उत्तराखंड सरकार देगी जिलाधिकारियों को पावर,वीकेंड पर फैसला लेने की मिलेगी छूट


देहरादून: कोरोना वायरस के मामलों के कम होने के बाद भी उत्तराखंड में Curfew नहीं हटेगा। कोरोना वायरस की तीसरी लहर को लेकर तमाम अनुमान लगाए जा रहे हैं और सरकार छूट देकर हालात को खराब नहीं करना चाहती है।

मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो कोरोना Curfew को एक बार फिर एक हफ्ते के लिए बढ़ाया जाएगा और गाइडलाइन सोमवार शाम को भी जारी हो सकती है। सरकार जिलाधिकारियों को विशेष पावर देने का प्लान बना रही है जो पर्यटकों की भीड़ को देखते हुए वीकेंड को लेकर फैसला लेंगे। नई एसओपी को कुछ इस तरह के बदलाव देखने को मिल सकते हैं।

यह भी पढ़ें 👉  मां से कहा 22 अक्टूबर को घर आऊंगा लेकिन तिरंगे से लिपटकर गांव पहुंचा एकलौता बेटा विक्रम

अप्रैल के आखिरी हफ्ते में कोरोना वायरस के मामलों को कम करने के लिए सरकार ने Curfew लगाया था। वायरस की चैन टूटने के साथ सरकार ने चरणबुद्ध तरीके से बाजार को खोला और छूट प्रदान की।

यह भी पढ़ें 👉  मां से कहा 22 अक्टूबर को घर आऊंगा लेकिन तिरंगे से लिपटकर गांव पहुंचा एकलौता बेटा विक्रम

बीते सप्ताह सरकार ने दुकानों को सप्ताह के छह दिन खोलने के साथ ही जिम व खेल गतिविधियों के संचालन को मंजूरी दी थी। इस बार उम्मीद जताई जा रही थी कि सरकार इसमें और राहत दे सकती है, लेकिन सरकार दुकानों के खुलने और बंद करने को पहले जैसा ही रखेगी।

दूसरे राज्यों से आ रहे पर्यटकों के लिए आरटीपीसीआर टेस्ट या इसकी 72 घंटे पहले तक की अवधि की निगेटिव रिपोर्ट लाना अनिवार्य कर दिया। होटलों में उनकी क्षमता के 50 फीसद व्यक्तियों को ही ठहराने के निर्देश दिए गए हैं। यह नियम जारी रह सकता है। नैनीताल और मसूरी में होटल बुकिंग करने वाले सैलानियों को ही एंट्री मिल रही है। हालात पर पैनी नजर बनाए हुए जिला प्रशासन को सरकार अहम जिम्मेदारी दे सकती है।

Ad
Ad
Ad
Ad
Ad - Vendy Sr. Sec. School

हल्द्वानी लाइव डॉट कॉम उत्तराखंड का तेजी से बढ़ता हुआ न्यूज पोर्टल है। पोर्टल पर देवभूमि से जुड़ी तमाम बड़ी गतिविधियां हम आपके साथ साझा करते हैं। हल्द्वानी लाइव की टीम राज्य के युवाओं से काफी प्रोत्साहित रहती है और उनकी कामयाबी लोगों के सामने लाने की कोशिश करती है। अपनी इसी सोच के चलते पोर्टल ने अपनी खास जगह देवभूमि के पाठकों के बीच बनाई है।

© 2021 Haldwani Live Media House

To Top