Nainital-Haldwani News

हल्द्वानी में ये नवरात्रि होगी खास, पहली बार कुमाऊंनी बोली में होगी श्रीमद् भागवत कथा

हल्द्वानी- तारा जन सेवा समिति द्वारा कुमाऊं के प्रवेश द्वार हल्द्वानी में पहली बार कुमाऊंनी बोली में श्रीमद् भागवत कथा  का आयोजन 16 नवंबर से 23 नवंबर 2023 तक किया जा रहा है । इस पवित्र और भगवती कार्य हेतु समिति की एक बैठक आज गोलज्यू मंदिर हीरानगर में संपन्न हुई । बैठक में समिति के अध्यक्ष जितेन्द्र मेहता द्वारा पहली बार श्रीमद् भागवत कुमाऊनी बोली में साथ कुमाऊं क्षेत्र के सम्मानित कथा वाचकों का सम्मान समारोह आयोजित किए जाने के संदर्भ में कार्यक्रम की विस्तृत रूप से जानकारी दी।


जितेन्द्र मेहता ने बताया 16 नवंबर को भव्य कलश यात्रा निकलेगी जिसमें माताएं बहने पारंपरिक कुमाऊनी वेशभूषा में सम्मिलित होगी साथ ही गोलजू भगवान की झांकी और माँ नंदा सुनंदा की झांकी भी और साथ ही कुमाऊं के सभी वाद्य यंत्र भी कलश यात्रा में रहेंगे । कलश यात्रा गोलू मंदिर हीरानगर से प्रारंभ होकर मुखानी चौराहे से जेल रोड चौराहा होते हुए उत्थान मंच में पहुंचेगी। कथा का समय 16 नवंबर से 22 नवंबर तक दिन में 2:00 से 5:00 बजे तक रहेगा। विशाल भजन संध्या 1920 नवंबर को साइंस 8:00 बजे से रात को 10:00 बजे तक होगी। जिसमें उत्तराखंड के प्रसिद्ध कुमाऊंनी गढ़वाली कलाकारों द्वारा भजन की प्रस्तुति की जाएगी साथ ही 23 तारीख को हवन विशाल भंडारा आयोजित किया जाएगा।

बैठक में समिति के सभी सदस्यों ने कार्यक्रम को सफल बनाने हेतु हल्द्वानी व आसपास के सभी क्षेत्रों में निमंत्रण देने का निर्णय लिया। बैठक में रितु डालाकोटि, वंदना पंत,संदीप भोज,योगेश जोशी, विजय मनराल,मुन्नी बिष्ट, दीप्ति चुफाल, विनोद तिवारी, गणेश गुणवंत,राशि जैन, आदि उपस्थित रहे।

To Top
Ad