अपील: आग से घर जला तो राख हो गए सपने, देवभूमि से मदद मांग रहा है परिवार

0
528
अपील: आग से घर जला तो राख हो गए सपने, देवभूमि से मदद मांग रहा है परिवार

चंपावत: आपदाएं कभी भी आ सकती हैं, किसी भी तरह से आ सकती हैं। प्रदेश के एक छोटे से गांव गड्यूडा में निवास करने वाला परिवार मुसीबतों की मार झेल रहा है। 15 लोगों का यह परिवार आज खुले आसमान के नीचे जीवन यापन करने को मजबूर है। इसके पीछे का कारण है उनके आशियाने का आग से जलकर राख हो जाना।

चंपावत जिले के पोस्ट ऑफिस भिंगराड़ा के अंतर्गत ग्राम गड्यूडा निवासी हयात राम और उनका परिवार हर तरह से परेशान है। यह परेशानी शुरू हुए दो महीने ज़रूर हो गए हैं मगर अब तक परिवार को किसी भी तरह की आर्थिक मदद नहीं मिल सकी है।

यह भी पढ़ें: उत्तराखंड के बेटे को मिली आईपीएल में कप्तानी,धोनी के असली उतराधिकारी हैं ऋषभ पंत

यह भी पढ़ें: उत्तराखंड सरकार ने जारी की कोरोना की नई गाइडलाइन, एक अप्रैल से होगी लागू

हयात राम पुत्र हरीराम के घर में दिनांक 5 फरवरी की रात को भीषण आग लग गई थी। जिसकी वजह से उनका मकान तथा अंदर रखा सारा ज़रूरी सामान जलकर राख हो गया। हयात राम बताते हैं कि इस घटना में लगभग दस लाख रुपए का नुकसान हुआ है।

पीड़ित ने बताया कि उन्होंने तहसीलदार समेत मुख्यमंत्री तक से मदद की गुहार लगाई मगर अब तक उन्हें आर्थिक या आवासीय सहायता नहीं मिल सकी। हयात राम ने यह भी बताया कि वर्तमान में उनका परिवार खुले आसमान के नीचे जीवन यापन करने को मजबूर है।

यह भी पढ़ें: उत्तराखंड: कोरोना वायरस ने पार किया एक लाख का आंकड़ा, कुछ देर पहले जारी हुआ है बुलेटिन

यह भी पढ़ें: एक बार फिर यूट्यूब पर छाए हरिद्वार के शिवम सडाना, शहंशाह गाने में दिखाया अलग अंदाज

ऐसे में देवभूमि के इस परिवार को साथियों की ज़रूरत है। तो क्यों ना हम आगे आएं और इंसानियत का फर्ज निभा कर एक परिवार को मुश्किल वक्त में सहारा दें। आप निम्ननलिखित जरिये से पीड़ित परिवार की मदद करने के लिए आगे आ सकते हैं।

बैंक का नाम – दी नैनीताल बैंक लिमिटेड

पता – ग्राम गड्यूडा (पोस्ट ऑफिस – भिंगराड़ा)

खाताधारक का नाम – हयात राम पुत्र हरी राम

मोबाइल नंबर – 8057583947

अकाउंट नंबर – 0432000000000340

IFSC कोड – NTBL0BHI043 (पांचवा और नौंवां नंबर शून्य यानी 0 है)

MICR – 262184651

यह भी पढ़ें: शादी के बाद नहीं छोड़ी पढ़ाई, देवरानी-जेठानी ने एक साथ पास की UPPSC परीक्षा

यह भी पढ़ें: जय देवभूमि-आस्था तो देखिए,लग्जरी जिंदगी छोड़ स्विट्जरलैंड से पैदल हरिद्वार पहुंचे बाबा बेन

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here