एक दिन में कुछ श्रद्धालु ही कर पाएंगे मां पूर्णागिरी के दर्शन, जारी हो गई SOP

0
265

टनकपुर: पिछले साल भी कोरोना के कारण स्थगित हो गया मां पूर्णागिरी का मेला इस बार 30 मार्च से शुरू होने वाला है। पुलिस द्वारा कोरोना के मद्देनज़र पूर्णागिरी मेले के लिए एसओपी जारी कर दी गई है। बता दें कि एक दिन में केवल 10 हज़ार भक्तों को ही मां के दर्शन करने का मौका मिलेगा।

लाजमी है कि कोरोना का खतरा धीरे-धीरे पिछले साल की ही तरह रफ्तार पकड़ रहा है। यही समय था जब 2020 में पूर्णागिरी का मेला एक ही हफ्ते में स्थगित कर दिया गया था। इसलिए इस बार पुलिस किसी भी तरह से लापरवाही बरतने के मूड में नहीं थी। इसी वजह से अब मेले में आने वाले श्रद्धालुओं के लिए एसओपी जारी की गई है।

यह भी पढ़ें: हल्द्वानी:फेसबुक पर प्रेमिका के लिए डाला पोस्ट और हो गया लापता, छात्र नेता का नंबर भी है ऑफ

यह भी पढ़ें: हल्द्वानी:हेलो…मैं BSNL से बोल रहा हूं,रिचार्ज के नाम पर उड़ाए तीस हजार रुपए

बता दें कि इस बार मां पूर्णागिरी की मेला 30 मार्च से शुरू हो कर 30 अप्रैल तक चलने वाला है। पुलिस का कहना है कि श्रद्धालुओं को ऑनलाइन पंजीकरण के बाद ही मेले में प्रवेश दिया जाएगा। इसके अलावा सुरक्षित दूरी, मास्क और सैनिटाइजर का भी प्रयोग करना अनिवार्य होगा। 

मुख्य बिंदू:-

– श्रद्धालुओं को https://mvcdeveloper. uttaraonline.in/purnagiri और https://champawat.nic.in वेबसाइट पोर्टल पर पंजीकरण कराना होगा।

– ऑनलाइन पोर्टल पर एक दिन में केवल 10 हजार भक्त ही पंजीकरण करा सकेंगे।

– मेले के एरिया में सथित दुकानों और धर्मशालाओं के संचालकों को भी श्रद्धालुओं की थर्मल स्क्रीनिंग की व्यवस्था सुनिश्चित करनी होगी।

यह भी पढ़ें: UOU हुआ स्मार्ट, छात्र APP से डाउनलोड कर पाएंगे मार्कशीट और डिग्री

यह भी पढ़ें: चिंताजनक:उत्तराखंड में कोरोना वायरस की मृत्यु दर राष्ट्रीय औसत से ज्यादा

यह भी पढ़ें: कोरोना का खतरा अभी टला नहीं, देहरादून की सीमाओं पर होगी रैंडम सैंपलिंग

यह भी पढ़ें: एक अप्रैल से प्राथमिक स्कूलों को खोलने की तैयारी में उत्तराखंड सरकार,मोहर लगने का इंतजार

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here