उत्तराखंड की इन महिलाओं की सोच को सलाम,बाखूबी कर रही हैं संक्रमितों तक खाना पहुंचाने का काम

देहरादून: जब जब समाज मुश्किलों से घिरा है। तब तब महिलाओं ने अपनी भागीदारी से मोर्चा संभाला है। इस बार कोरोना महामारी में भी महिलाओं की सोच सराहनीय है। खासकर देहरादून की सात महिलाओं का समूह तो पूरे उत्तराखंड का दिल जीत रहा है। जी हां, ये महिलाएं रोजाना अपने-अपने क्षेत्रों में संक्रमित परिवार को दिन व रात का खाना पहुंचा रही हैं।

दरअसल फिक्की फ्लो से जुड़ी महिलाओं ने ‘फूड फ्रॉम होम’ अभियान की शुरुआत की है। जिसके तहत वे संक्रमित परिवारों के लिए दोपहर और रात को खाना पहुंचाने का काम कर रही हैं। इसके लिए उन्होंने बकायदा एक वाट्सएप ग्रुप बनाया है। जिसमें क्षेत्र के संक्रमित परिवार का पता और फोन नंबर शेयर किया जाता है।

बाद में संपर्क कर जानकारी हासिल की जाती है और टू व्हीलर के माध्यम से घर के बाहर खाने का पैकेट पहुंचाया जाता है। फ्लो उत्तराखंड की अध्यक्ष कोमल बत्रा ने बताया कि पिछले हफ्ते चार पैकेट के साथ इस अभियान की शुरुआत की गई। अब यह संख्या चार से 40 पहुंच गई है। महिलाओं द्वारा घर में रोटी, दाल, सब्जी, चावल, आदि तैयार कर पैक किए जाते हैं।

यह भी पढें: महाकुंभ का अंतिम स्नान संपन्न होते ही हरिद्वार में Curfew लागू

यह भी पढें: सतर्क रहे, उत्तराखंड के 208 इलाकों में लगा लॉकडाउन, मेडिकल बुलेटिन देखें

बता दें कि महिलाएं अभी यह सुविधा अपने क्षेत्र से पांच किलोमीटर के दायरे में रहने वाले संक्रमित परिवार को दे रहीं हैं। साथ ही डिलिवरी दोपहर दो बजे और रात को साढ़े आठ बजे से पहले की जाती है। फ्लो उत्तराखंड की अध्यक्ष कोमल बत्रा ने यह भी जानकारी दी कि कोई भी परिवार संक्रमित आने पर 7409992666 नंबर पर अपनी जांच रिपोर्ट वाट्सएप कर मदद मांग सकता है।

बहरहाल आपको बता दें कि इस नेक काम मतलब खाना बनाने और संक्रमित परिवार तक पहुंचाने और साथ ही उन्हें फोन पर कोरोना के प्रति जागरूक व मानसिक तौर पर स्वस्थ रखने के लिए सुनीता वात्सल्य, स्मृति बत्रा, डॉ. गीता खन्ना, वैद्य शिखा प्रकाश, डॉ. नेहा शर्मा, मानसी विरमानी, डॉ. मानसी रस्तोगी, मनीत सूरी की टीम काम कर रहीं हैं।

यह भी पढें: बाबा नीम करौली के पुत्र का निधन, भक्त बनकर हर साल पहुंचते थे कैंची धाम

यह भी पढें: नैनीताल डीएम गर्ब्याल ने कर्फ्यू पास के संबंध में जारी किए आदेश, ऐसे मिलेगी परमिशन

यह भी पढें: शादी के लिए अल्मोड़ा पहुंचने वाला था धौनी परिवार, कोरोना ने किया बंटाधार, Online लिए फेरे

यह भी पढें: उत्तराखंड पुलिस के प्रयासों को नमन,रिकवर मरीजों की मदद से होगा संक्रमितों का इलाज,वेबसाइट लॉंच

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *