Nainital-Haldwani News

हल्द्वानी में डेल्टा प्लस वैरिएंट की सैंपलिंग व जांच को लेकर अलर्ट, विभाग ने बनाया प्लान


हल्द्वानी में डेल्टा प्लस वैरिएंट की सैंपलिंग व जांच को लेकर अलर्ट, विभाग ने बनाया प्लान

हल्द्वानी: जैसे ही राहत की अनुभूति होना शुरू होती है। ठीक वैसे ही दूसरा खतरा सामने आ जाता है। पिछले साल से तो सिलसिला कुछ इसी तरह चलता आ रहा है। नैनीताल में कोरोना के नए डेल्टा प्लस वैरिएंट को लेकर सतर्कता बढ़ गई है।

आपको बता दें कि इस साल कोरोना की दूसरी लहर ने जिले भर में कोहराम मचाया। अब बीते कुछ समय में संक्रमण में खासा कमी आई है। लेकिन तीसरी लहर की संभावनाओं के बीच डेल्टा प्लस वैरिएंट का कई राज्यों में प्रवेश कर जाना डराने का काम कर रहा है।

यह भी पढ़ें: नैनीताल में शुरू हुआ रोपवे का संचालन, सुबह 8 बजे से 5 बजे तक सैलानी करेंगे सैर

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड की शान है ऋषभ...WTC में एक हज़ार रन पूरे करने वाले दुनिया के पहले विकेटकीपर बने पंत

यह भी पढ़ें: उत्तराखंड में बढ़ेगा Curfew,हल्द्वानी में शासकीय प्रवक्ता सुबोध उनियाल ने भरी हामी

इसी क्रम में स्वास्थ्य विभाग भी एक्टिव हो गया है। विभाग द्वारा ये तय किया गया है कि राजकीय मेडिकल कॉलेज की वायरोलॉजी विभाग की ओर से जिले से भी समय-समय पर 15 सैंपल नेशनल सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल (एनसीडीसी) पुणे को भेजे जाएंगे।

जानकारों के मुताबिक कोविड मरीजों के सैंपल की जांच ही जिनोम सिक्वेंसिंग है। जिसमें काफी समय भी लगता है। अब इसी जांच हेतु राजकीय मेडिकल कॉलेज ने जिनोम सिक्वेंसिंग जांच के लिए सैंपल एकत्रित करना शुरू कर दिया है। भारतीय चिकित्सा शोध परिषद (आइसीएमआर) के निर्देश के बाद सैंपलिंग शुरू की गई है।

यह भी पढ़ें 👉  एक बार फिर चर्चा में हरक सिंह रावत...बोले मुझे BJP कोर ग्रुप बैठक में नहीं बुलाया

यह भी पढ़ें: उत्तराखंड में 4 महीने बाद आए सबसे कम कोरोना के मामले,अब केवल तीन कंटेनमेंट जोन

यह भी पढ़ें: दिल्ली से नैनीताल आ रहे 4 पर्यटकों की सड़क हादसे में मौत,नाले में गिरी गई कार

वायरोलॉजी लैब की चीफ एनालिस्ट प्रो. विनीता रावत के अनुसार 15-15 सैंपल एनसीडीसी भेजे जाने हैं। जिसके लिए बेस अस्पताल व अन्य अस्पतालों से जल्द ही पॉजिटिव लोगों के सैंपल भेज दिए जाएंगे। सैंपल के साथ मरीज का पूरा ब्यौरा (लक्षण सहित) भेजा जाएगा।

यह भी पढ़ें 👉  हल्द्वानी में होगी महानगरों की तरह पुलिस पेट्रोलिंग, पूरे शहर में घूमेगी डायल 112 स्कॉर्पियो

सीएमओ डा. भागीरथी जोशी ने बताया कि संक्रमण के मामलों में कमी आई है लेकिन लापरवाही की अब भी कोई गुंजाइश नहीं है। भीड़ से बचना है। जिनोम सिक्वेंसिंग के लिए सैंपल मेडिकल कॉलेज के वायरोलॉजी लैब से भेजे जाने की तैयारी चल रही है।

यह भी पढ़ें: मन की बात में PM मोदी ने पौड़ी के सच्चिदानंद भारती की तारीफ की…

यह भी पढ़ें: तिरंगे से लिपटकर देवभूमि पहुंचे वीर मनदीप नेगी,मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने किया नमन

To Top