Nainital-Haldwani News

बढ़ते कोरोना के साथ बढ़ा लॉकडाउन का डर,हल्द्वानी मंडी की कैंटीनों को नहीं मिल रहे हैं ठेकेदार



हल्द्वानी: शहर में स्थित कुमाऊं की सबसे बड़ी मंडी में माहौल चिंताजनक बना हुआ है। कारण वही पुराना, कोरोना। कोविड-19 संक्रमण के मामले बढ़ते ही लोगों को लॉकडाउन लगने का डर सताने लगा है। यही वजह है कि हल्द्वानी की मंडी की कैंटीनों को ठेकेदार मिलने मुश्किल हो रहे हैं। 13 में से नौ कैंटीनों के संचालन का अब तक कोई अता पता नहीं है।

दरअसल मंडी में स्थित कैंटीनों को संचालित करने के लिए हर साल टेंडर प्रक्रिया होती है। जो कि पिछले साल कोरोना और लॉकडाउन के कारण नहीं हो सकी थी। यही वजह थी कि पुराने ही ठेकेदार कैंटीन चला रहे थे। फिलहाल मंडी समिति द्वारा एक अप्रैल 2021 से 31 मार्च 2022 की अवधि तक के लिए टेंडर प्रक्रिया कराई जा रही है।

यह भी पढ़ें 👉  कुमाऊं रेजीमेंट के जवान की ट्रेन से गिरकर मौत, छुट्टी लेकर लोहाघाट जा रहे थे गौतम

यह भी पढ़ें: उत्तराखंड के बेटे को मिली आईपीएल में कप्तानी,धोनी के असली उतराधिकारी हैं ऋषभ पंत

यह भी पढ़ें: उत्तराखंड सरकार ने जारी की कोरोना की नई गाइडलाइन, एक अप्रैल से होगी लागू

अब हो यह रहा है कि कई कैंटीनों की ठेकेदारी के लिए कोई भी इच्छुक नहीं दिख रहा। ऐसे में मंडी समिति को दोबारा नौ कैंटीनों के लिए दोबारा टेंडर निकालना पड़ा है। बहरहाल ठेकेदारों का टेंडर प्रक्रिया में भाग ना लेने के पीछे का बड़ा कारण कोरोना के बढ़ने से पैदा हुआ डर ही है। लोगों को डर है कि कहीं बीते साल की तरह ही लॉकडाउन जैसी नौबत आ जाएगी तो किराए का पैसा निकाल पाना मुश्किल हो जाएगा।

यह भी पढ़ें 👉  हल्द्वानी-नैनीताल में बारिश से बढ़ी सर्दी, अगले पांच दिन पहाड़ों में बारिश और बर्फबारी के आसार

आपको बता दें कि मंडी की एक कैंटीन का किराया 1.5 लाख से 5 लाख तक निर्धारित है। मंडी के कारोबारियों का मानना भी यही है कि कम आवेदन आने का पहला कारण किराया है। हालांकि मंडी समिति का कहना अलग है। समिति के अनुसार टेक्निकल बिड पास न कर पाना इसका कारण है। समिति का कहना है कि टेक्निकल बिड पास करने के बाद ही फाइनेंशियल बिड होती है।

हल्द्वानी मंडी समिति से मिली जानकारी के अनुसार आगामी वित्तीय वर्ष के लिए कैंटीन संख्या 3, 11, 15 व 16 का टेंडर शनिवार को खोला गया। जिससे मंडी को 28 लाख रुपये का राजस्व प्राप्त हुआ है। नियम के हवाले से देखें तो टेंडर में कम से कम तीन आवेदन आने के बाद ही टेंडर खोला जाता है। लेकिन इस बार अधिकतर कैंटीनों के लिए इससे भी कम आवेदन आ रहे हैं। मंडी सचिव वीवीएस देव ने बताया कि 12 अप्रैल को दोबारा टेंडर कराया जा रहा है।

यह भी पढ़ें 👉  नैनीताल में मां नयना देवी के दर्शन के बाद IAS दीपक रावत ने संभाला कुमाऊं कमिश्नर का चार्ज

यह भी पढ़ें: उत्तराखंड: कोरोना वायरस ने पार किया एक लाख का आंकड़ा, कुछ देर पहले जारी हुआ है बुलेटिन

यह भी पढ़ें: एक बार फिर यूट्यूब पर छाए हरिद्वार के शिवम सडाना, शहंशाह गाने में दिखाया अलग अंदाज

यह भी पढ़ें: शादी के बाद नहीं छोड़ी पढ़ाई, देवरानी-जेठानी ने एक साथ पास की UPPSC परीक्षा

यह भी पढ़ें: जय देवभूमि-आस्था तो देखिए,लग्जरी जिंदगी छोड़ स्विट्जरलैंड से पैदल हरिद्वार पहुंचे बाबा बेन

Ad
Ad - Vendy Sr. Sec. School
Ad
Ad
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

हल्द्वानी लाइव डॉट कॉम उत्तराखंड का तेजी से बढ़ता हुआ न्यूज पोर्टल है। पोर्टल पर देवभूमि से जुड़ी तमाम बड़ी गतिविधियां हम आपके साथ साझा करते हैं। हल्द्वानी लाइव की टीम राज्य के युवाओं से काफी प्रोत्साहित रहती है और उनकी कामयाबी लोगों के सामने लाने की कोशिश करती है। अपनी इसी सोच के चलते पोर्टल ने अपनी खास जगह देवभूमि के पाठकों के बीच बनाई है।

© 2021 Haldwani Live Media House

To Top