Nainital-Haldwani News

भारी बारिश में भी नहीं डूबेंगी हल्द्वानी की सड़कें, गुरुग्राम की फर्म बना रही है ड्रेनेज प्लान

कुछ देर की बारिश से ही पानी पानी हुआ हल्द्वानी, नैनीताल समेत पांच जिलों में फिर अलर्ट जारी

हल्द्वानी: नगर के निवासी बारिश में होने वाली दिक्कतों से खासा परेशाम हैं। इस बात से शायद हर कोई परीचित हो चुका है कि हल्द्वानी का ड्रेनेज सिस्टम का स्तर किस तरह का है। ड्रेनेज सिस्टम की पोल हर बार भारी बारिश के दिनों में खुल जाती है।

शहर के ड्रेनेज सिस्टम को ठीक करने की मांगे ना जाने कब से उठ रही हैं। लिहाजा अब प्रदेश सरकार ने देहरादून, हरिद्वार, रुड़की व भगवानपुर शहरों के साथ हल्द्वानी के लिए ड्रेनेज मास्टर प्लान तैयार करने की दिशा में काम शुरू किया है।

यह भी पढ़ें: काठगोदाम थाने के पास युवक-युवती से मारपीट और लूट

यह भी पढ़ें: कोटद्वार:परिजनों का आरोप,थाने में पुलिस की मार से हुई बेटे की मौत

यह भी पढ़ें 👉  नैनीताल निवासी शैलजा पांडे बनीं IAS ऑफिसर, UPSC में हासिल हुई 61वीं रैंक, आप भी बधाई दें

गुरुग्राम की एक निजी कंपनी फीडबैक इन्फ्रा ने हल्द्वानी के ड्रेनेज प्लान की डिजाइनिंग का काम कर रही है। बता दें कि इससे पहले एक महीने में सर्वे का काम पूरा किया गया। बताया जा रहा है कि डिजाइनिंग समेत डीपीआर बनाने का काम दो माह के भीतर पूरा हो जाएगा।

गौरतलब है कि 105 वर्ग किमी में फैले हल्द्वानी के लिए ड्रेनेज प्लान की जरूरत काफी ज्यादा है। हल्द्वानी वासी बारिश के दिनों में जलभराव से खासा दिक्कतों में आ जाते हैं। नैनीताल रोड पर कहीं कहीं तो हाल वाकई बारिश में खस्ताहाल हो जाता है। गाड़ियों समेत स्थानीय लोगों को परेशानी उठानी पड़ती है।

यह भी पढ़ें 👉  नैनीताल पहुंची नेहा कक्कड़, लोगों ने पहचाना तो लग गया जाम

निजी फर्म के निदेशक संदीप धामने के मुताबिक सरकार द्वारा इंदिरानगर को प्राथमिकता देने की बात कही गई है। उन्होंने बताया कि सिंचाई विभाग ने अपने डाटा में हल्द्वानी का क्षेत्रफल 45 वर्ग किमी बताया था।

यह भी पढ़ें: घर पर न्यूजीलैंड जा रहा हूं कह कर गए रिटायर्ड फौजी की लोकेशन दून में मिली,कोतवाली पहुंची पत्नी

यह भी पढ़ें: उत्तराखंड:तीसरी लहर से बच्चों को बचाना हैं, 80 पिडियाट्रिक एंबुलेंस होगी संचालित

मगर कंपनी के सर्वे में हल्द्वानी का क्षेत्रफल 105 वर्ग किमी आया है। इसलिए कार्यदायी संस्था सिंचाई विभाग हरिद्वार को पत्र लिखकर डिजाइनिंग व डीपीआर तैयार करने की राशि को बढ़ाने की मांग की है।

यह भी पढ़ें 👉  नैनीताल: दो पौधों के नाम लैला और मजनु, जल संरक्षण के लिए खास है जोड़ा

लाजमी है कि जून से सितंबर के दौरान हल्द्वानी शहर बारिश के कारण मुश्किलों का सामना करता है। अगर बारिश लगातार व भारी मात्रा में होती है तो जलभराव की समस्या वापिस आ जाती है। ऐसे में शहर के जल्द ही एक बेहतर ड्रेनेज प्लान की जरूरत है। जिस पर अब काम शुरू हो गया है।

यह भी पढ़ें: CBSE:सोशल मीडिया पर वायरल हुए फेक लिंक ने मचाया बवाल,बोर्ड ने दिया अपडेट

यह भी पढ़ें: उत्तराखंड में वन कांस्टेबल भर्ती के लिए जारी हुए एडमिट कार्ड, फौरन करें डाउनलोड

हल्द्वानी लाइव डॉट कॉम उत्तराखंड का तेजी से बढ़ता हुआ न्यूज पोर्टल है। पोर्टल पर देवभूमि से जुड़ी तमाम बड़ी गतिविधियां हम आपके साथ साझा करते हैं। हल्द्वानी लाइव की टीम राज्य के युवाओं से काफी प्रोत्साहित रहती है और उनकी कामयाबी लोगों के सामने लाने की कोशिश करती है। अपनी इसी सोच के चलते पोर्टल ने अपनी खास जगह देवभूमि के पाठकों के बीच बनाई है।

© 2021 Haldwani Live Media House

To Top