Nainital-Haldwani News

कुमाऊं के 25 रूट पर उत्तराखंड रोडवेज की सेवा बंद, ज्यादा रुपए देने के लिए जनता बेबस

हल्द्वानी: कोरोना काल ने सामने ज्यादा रोडवेज को नुकसान पहुंचाया है। मामले कम हुए तो लोगों को राहत मिली कि उन्हें यात्रा के लिए बस का साथ मिलेगा लेकिन राहत केवल मैदानी रूट्स को मिली है। पर्वतीय जिलों में रह रहे लोगों को अपने जीवन की तरह यात्रा के लिए संघर्ष करना पड़ रहा है। पर्वतीय क्षेत्रों में बसों की सेवा का हाल पहले से ही ऐसा रहा है। कुमाऊं के करीब 25 रूटों पर बसों का संचालन बंद है। लोग विभाग और सरकार को अपनी परेशानी के बारे में अवगत करा चुके हैं लेकिन कोई फैसला नहीं लिया गया है।

बता दें कि निगम की ओर से सीनियर सिटीजन, राज्य आंदोलनकारी, पत्रकार, छात्रा पास, दिव्यांग, विधायक, मेरे बुजुर्ग मेरे तीर्थ योजना के तहत फ्री सेवा दी जाती है, जिसका खर्चा विभाग को उठाना पड़ता है। पर्वतीय क्षेत्रों में इस वजह से भी बसों का संचालन नहीं हो रहा है क्योंकि कोरोना काल में हुए नुकसान की भरपाई के लिए रोडवेज मैदानी इलाकों पर ध्यान लगा रहा है लेकिन इससे पर्वतीय क्षेत्रों में यात्रा करने वालों को परेशानी हो रही है। हालांकि रोडवेज कर्मचारियों का मानना है कि राज्य सरकार और निगम प्रबंधन इस परेशान का हल निकाले में जुटे हुए हैं और बसों के संचालन की अनुमति दोबारा मिल सकती है।

यह भी पढ़ें 👉  हल्द्वानी आ रही बस के नट गिरे, चालक नवीन की सूझबूझ ने बचाई 33 यात्रियों की जान

पहाड़ में रोडवेज की बस सेवा के कम होने से लोगों में रोष है। उन्होंने पहाड़ की बंद बस सेवा फिर सुचारु रूप से चलाने की मांग की है। उनका कहना है कि परेशानी को लेकर कुछ नहीं किया जा रहा है लेकिन चुनाव पास आते ही ये सुविधाएं मिलने लगेंगी क्योकि उस वक्त सवाल वोट का होगा।

यह भी पढ़ें 👉  हल्द्वानी में जीवित विधवा महिला को मृत दिखाकर रिश्तेदारों ने ही हड़प ली लाखों की ज़मीन

युवाओं का कहना है कि नुकसान की भरपाई प्लान से करनी चाहिए, यहां परेशानी का सामना जनता को हो रहा है। पर्वतीय क्षेत्रों में कमाई के साधान भी कम हैं और ऐसे में यात्रा में रुपए ज्यादा लगेंगे तो वह कैसे कुछ जोड़ पाएंगे। एआरएम सुरेंद्र सिंह बिष्ट का कहना है कि निगम पहाड़ रूट्स् के लिए गंभीर है। लोगों की परेशानी को हम समझते हैं और नई बसों के मिलने के बाद इन रूटों पर बसों का संचालन शुरू कर दिया जाएगा।

यह भी पढ़ें 👉  जन्मदिन पर उत्तराखंड सीएम ने DGP को दिए निर्देश,मेरे काफिले से जनता को नहीं होनी चाहिए परेशानी

इन रूट्स पर नहीं चल रही है बस

हल्द्वानी-कुकुछीना, हल्द्वानी-भनोली, हल्द्वानी-गोविंदपुर (धोलाघाट), हल्द्वानी- चौबटिया। काठगोदाम डिपो की बंद सेवा – काठगोदाम-भीडापानी, काठगोदाम-सिमलखेत, काठगोदाम-मुक्तेश्वर,काठगोदाम-हरतोला, काठगोदाम-बग्वाली पोखर, काठगोदाम-जेतीजमाड़, काठगोदाम-जमरानी। भवाली -भराड़ी-बागेश्वर, भवाली-जंगलिया गांव,भवाली-मोतिपाथर, भवाली-रामगढ़, भवाली-बेतालघाट-देहरादून। रानीखेत डिपो की बंद सेवा- रानीखेत-बरेली-गैरसेंण, रानीखेत-हल्द्वानी-मासी,रानीखेत-हल्द्वानी-सिमलगांव, रानीखेत-हल्द्वानी-गनाई,रानीखेत-गोपेश्वर,रानीखेत-बद्रीनाथ। अल्मोड़ा-शीतलाखेत-रानीखेत, अल्मोड़ा-पौड़ी, अल्मोड़ा-धरमघर

हल्द्वानी लाइव डॉट कॉम उत्तराखंड का तेजी से बढ़ता हुआ न्यूज पोर्टल है। पोर्टल पर देवभूमि से जुड़ी तमाम बड़ी गतिविधियां हम आपके साथ साझा करते हैं। हल्द्वानी लाइव की टीम राज्य के युवाओं से काफी प्रोत्साहित रहती है और उनकी कामयाबी लोगों के सामने लाने की कोशिश करती है। अपनी इसी सोच के चलते पोर्टल ने अपनी खास जगह देवभूमि के पाठकों के बीच बनाई है।

© 2021 Haldwani Live Media House

To Top