Uttarakhand News

मौसम विभाग की भविष्यवाणी सही साबित हुई, देर रात हुआ उत्तराखंड में हिमपात


देहरादून:मौसम विभाग की भविष्यवाणी सही साबित हुई है। राज्य में सीजन की पहली बर्फबारी देर रात मसूरी, धनोल्टी और गढ़वाल के ऊंचाई वाले स्थानों में  हुई। विभाग की ओर से पहले ही कहा गया था कि 28 दिसंबर को हिमपात हो सकता है और वैसा ही हुआ। बारिश और बर्फबारी होने से राज्य में ठंड बढ़ रही है। हल्द्वानी में दोपहर बाद सूर्य देव नदारत दिखें। मौसम विभाग ने भी सभी जिलों को आगाह किया है कि बर्फबारी के चलते पहाड़ी जिलों की सड़कों नुकसान हो सकता है हो लिहाजा स्थानीय प्रशासन इस हालात से निपटने की जरूरी तैयारी कर लें।

बात उत्तरकाशी जिले की करें तो यमुनोत्री हाईवे पर राडी और ओरक्षा बैंड क्षेत्र में बर्फबारी के चलते वाहनों की आवाजाही में परेशानी हो रही है। बर्फ जमने के कारण वाहनों के फिसलने का डर बना हुआ है। जिससे जाम की समस्या हो गई है। कड़ाके की ठंड से चंपावत जिले के नरसिंहडांडा में दो तालाबों के जम जाने से करीब 2000 मछली बीजों की मौत हो गई और इससे काफी नुकसान हुआ है।

रविवार को चंपावत और अल्मोड़ा का न्यूनतम तापमान शून्य डिग्री सेल्सियस पहुंच गया। नैनीताल और बागेश्वर में न्यूनतम पारा 4 डिग्री सेल्सियस था। पिथौरागढ़ में न्यूनतम तापमान अन्य शहरों से अधिक था। यहां का न्यूनतम तापमान 7.2 डिग्री रिकॉर्ड किया गया। इधर, तराई में अधिकतम तापमान 19 तो न्यूनतम तापमान 2.5 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया

To Top