Dehradun News

गर्व की बात: मोहकमपुर निवासी बेटी मैत्री रावत को गूगल में मिला 54 लाख रुपए से ज्यादा का पैकेज


गर्व की बात: मोहकमपुर निवासी बेटी मैत्री रावत को गूगल में मिला 54 लाख रुपए से ज्यादा का पैकेज

देहरादून: प्रदेश की बेटियों का कद आसमान को छू रहा है। ये कोई नई बात नहीं कि बेटियां देवभूमि को गर्व के पल दे रही हैं। मगर राजधानी की बेटी मैत्री रावत ने गूगल में जॉब पाकर खुशियों को कोसों दूर तक फैला दिया है। बता दें कि मैत्री का गूगल में चयन सॉफ्टवेयर इंजीनियर के पद पर 54 लाख रुपए से भी अधिक पैकेज पर हुआ है। पूरा क्षेत्र, पूरा परिवार खुशियों में झूम रहा है।

Ad

देहरादून के मोहमकपुर निवासी मोहन सिंह रावत की पुत्री ने पूरे राज्य को उसकी चर्चा करने पर मजबूर कर दिया है। ग्राफिक एरा डीम्ड यूनिवर्सिटी की छात्रा मैत्री रावत ने यहां से कंप्यूटर साइंस में बीटेक किया है। बीटेक के लास्ट ईयर में उसका प्लेसमेंट गूगल कंपनी में हुआ। बता दें कि पहले कोडिंग टेस्ट में पास होने के बाद मैत्री को इंटरव्यू भी क्लियर करना पड़ा।

यह भी पढ़ें 👉  पिता हरीश रावत को 2017 चुनावों में मिली हार का बदला लेने मैदान पर उतरेंगी बेटी अनुपमा रावत

यह भी पढ़ें: उत्तराखंड में चलेंगे सार्वाजनिक वाहन, इन 5 नियमों का पालन करना अनिवार्य, SOP जारी

यह भी पढ़ें: आरासल्पड़:भुवन जोशी मौत मामले में अपडेट,आरोपियों की जमानत अर्जी नामंजूर

सब तरह से पास होने के बाद गूगल ने मैत्री रावत को सॉफ्टवेयर इंजीनियर के पद पर नियुक्त किया है। इसके लिए मैत्री को 54.80 लाख रुपए का पैकेज ऑफर किया गया है। पिता मोहन सिंह रावत, जो कि एयरफोर्स से अवकाश ग्रहण कर बैंक में कार्यरत हैं, के लिए भी यह पल वाकई बहुत बड़ा है। जहां जमाने में बेटियों को बराबरी की नजरों से नहीं देखा जाता था। वहीं अब मैत्री जैसी बेटियां अपना लोहा मनवा कर दिखा रही हैं।

आपको बता दें कि गूगल से पहले भी मैत्री को जॉब ऑफर हुई थी। लिहाजा इससे पहले उसका कैब जैमनाई, टीसीएस व इंफोसिस जैसी नामी कंपनियों में भी चयन हो गया था। मगर गूगल में चयन होना अपने आप में एक बहुत बड़ी बात है। मैत्री ने अपनी सफलता का सारा श्रेय कॉलेज की क्वालिटी एजुकेशन, टीचर्स व माता पिता को दिया है।

यह भी पढ़ें 👉  "मेरी पत्नी को ही दे देते टिकट...", टिकट कटने के बाद रो पड़े भाजपा के विधायक - VIDEO

यह भी पढ़ें: उत्तराखंड में रिकवरी रेट 93 प्रतिशत पार,23259 कोरोना रिपोर्ट नेगेटिव आई

यह भी पढ़ें: उत्तराखंड CM तीरथ सिंह रावत के बाद पूर्व सीएम त्रिवेंद्र दिल्ली दौरे पर,कयास लगने शुरू

इधर ग्राफिक एरा यूनिवर्सिटी भी लगातार छात्रों के लिए एक विशेष जगह बनती जा रही है। जहां लोगों की नौकरियां जा रही हैं वहां इस कॉलेज के बच्चे लगातार तगड़े पैकेज पर नौकरियां पा रहे हैं। इससे पहले पहाड़ के दीपक सिंह रौतेला का 40.37 लाख के पैकेज से माइक्रोसॉफ्ट में चयन हुआ था। ग्राफिक एरा एजुकेशनल ग्रुप के अध्यक्ष प्रो. कमल घनशाला ने मैत्री को शानदार भविष्य के लिए शुभकामनाएं दी।

यह भी पढ़ें 👉  नामांकन का आखिरी दिन...भाजपा ने अबतक एक सीट पर घोषित नहीं किया है अपना उम्मीदवार

उन्होंने मैत्री को इसके साथ ही एक लाख रुपये का चैक भी भेंट किया। डॉ. घनशाला का कहना है कि दुनिया की सबसे नई टेक्नोलॉजी सिखाने की व्यवस्थाओं और विश्व स्तरीय फैकल्टी व प्रयोगशालाओं ने ग्राफिक एरा को युवाओं के ख्वाबों को हकीकत में बदलने वाली यूनिवर्सिटी बना दिया है।

यह भी पढ़ें: उत्तराखंड: सरयू नदी में नहाने गए पांच किशोरों के शव मिलने से सनसनी,मृतकों में दुल्हन के दो सगे भाई शामिल

यह भी पढ़ें: कैबिनेट का फैसला, पर्यटन व्यवसायियों को मिलेगी राहत, एक क्लिक में जानें पूरी खबर

To Top