Dehradun News

उत्तराखंड में वैक्सीन लिए बिना ही मिल रहे टीका लगने के मैसेज, मृतकों के परिजन भी परेशान


उत्तराखंड में वैक्सीन ना लगने पर भी मिल रहे टीका लगने के मैसेज, मृतकों के परिजन भी परेशान

देहरादून: टीकाकरण को लेकर राजधानी में जगहों पर लापरवाही (Negligence in Vaccination centres) हो रही है। खबरें इसी ओर इशारा कर रही हैं। वैक्सीन बिना लिए भी लोगों को टीका लेने के मैसेज मिल रहे हैं। कई ऐसे लोग हैं, जिनकी मृत्यु हो चुकी है और अब उनके परिजनों को टीकाकरण के मैसेज (Fake vaccination messages) आ रहे हैं। अब सीएमओ ने नोटिस जारी कर दिया है। जिससे कर्मचारियों में हबड़ादबड़ी मच गई है।

Ad

गौरतलब है कि जनवरी से शुरू हुए टीकाकरण में उत्तराखंड ने अच्छे रिकॉर्ड बनाए हैं। हाल ही में प्रदेश ने हर पात्र व्यक्ति को पहली डोज लगाने का लक्ष्य पूरा किया है। मगर इसी बीच टीकाकरण केंद्रों से लापरवाही की भी खबरें सामने आ रही हैं। कुछ मामले देहरादून तो कुछ ऋषिकेश (Dehradun & Rishikesh case) से भी सामने आए हैं।

यह भी पढ़ें 👉  गर्व की बात है, देवभूमि की प्रीति धनाई ने इंजीनियरिंग कॉलेज में टॉप कर जीता गोल्ड मेडल

हुआ ये कि देहरादून जीपीओ का एक कर्मी वैक्सीन लेने गया तो उससे कहा गया कि आपको पहली ही टीका लग गया है। वैक्सीन लगने का केंद्र जौनपुर में दिखा रहा है। ऐसा ही ऋषिकेश एम्स (Rishikesh AIIMS) में एक युवक के साथ हुआ। युवक को मोबाइल पर मैसेज मिला कि उसे पहली डोज अयोध्या में लगी है।

यह भी पढ़ें 👉  हल्द्वानी से टिकट मिलने पर भावुक हुए सुमित हृदयेश...बोले कांग्रेस ने नहीं खलने दी मां की कमी

इसके अलावा काफी संख्या में दूसरी डोज न लगने के बाद भी पंजीकृत मोबाइल नंबर पर दूसरी डोज का मैसेज लाभार्थी (Second dose message) को मिल रहा है। इतना ही नहीं बल्कि मृत व्यक्तियों के मोबाइल पर भी टीका लगने के मैसेज आ रहे हैं। जिससे उनके परिजनों को परेशानी हो रही है। इस संबंध में उच्चाधिकारियों ने कड़ी नाराजगी जताई है।

कोविन पोर्टल (Cowin Portal) के प्रभारी डा. आदित्य सिंह का कहना है कि समस्या का समाधान किया जा रहा है। शिकायतें मिलने के बाद एनएचएम मिशन (NHM Mission) निदेशक और राज्य प्रतिरक्षण अधिकारी कार्यालय से कड़ी नाराजगी जताते हुए सीएमओ को पत्र भेजा गया है। जिसके बाद केंद्रों व अस्पतालों को नोटिस (Notice to hospitals and centres) भेजा गया है।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड के सबसे बड़े हॉस्पिटल AIIMS में OPD बंद, फोन कर डॉक्टर्स से सलाह ले सकते हैं मरीज

जिसमें कहा गया है कि इस तरह की लापरवाही दोबारा न दोहराने और सभी वैक्सीनेटरों, वेरीफायरों को निर्देशित करने की हिदायत दी गई है। बता दें कि जिले में रविवार चार बजे तक 1490865 लोगों को पहली खुराक लगाई जा चुकी है। अभी 32 फीसदी को दूसरी डोज लगनी बाकी  है। देखना होगा कि इस तरह की लापरवाही कबतक बंद होती हैं।

To Top